Coronavirus Lockdown: 'PM गरीब कल्याण पैकेज' के तहत महिला खाताधारकों को भेजी जा रही मई की किश्त

देबाशीष पांडा ने कुछ देर पहले ट्वीट किया, 'PM गरीब कल्याण पैकेज के तहत PMJDY के महिला खाता धारकों को Rs.500 की मई माह की किश्त बैंकों में भेजी जा रही है.'

Coronavirus Lockdown: 'PM गरीब कल्याण पैकेज' के तहत महिला खाताधारकों को भेजी जा रही मई की किश्त

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 'पीएम गरीब कल्याण पैकेज' की घोषणा की थी. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • सरकार ने किया है 'PM गरीब कल्याण पैकेज' का ऐलान
  • PMJDY के तहत महिला खाताधारकों को मिल रहे रुपये
  • वित्तीय सेवाओं से जुड़े विभाग के सचिव हैं देबाशीष पांडा

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया. लॉकडाउन से सबसे ज्यादा देश का गरीब तबका प्रभावित हुआ है. बीते महीने गरीब वर्ग को राहत का ऐलान करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने एक लाख 70 हजार करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा की थी. इसमें 'प्रधानमंत्री जनधन योजना' के तहत महिला खाताधारकों के खाते में अगले तीन महीने तक 500 रुपये देने की बात कही गई थी. अप्रैल माह में महिलाओं के खातों में पैसे भेजे गए थे. अब सरकार की ओर से मई माह की किश्त भी भेजी जा रही है. वित्त मंत्रालय में वित्तीय सेवाओं से जुड़े विभाग के सचिव देबाशीष पांडा (Debashish Panda) ने एक ट्वीट के जरिए इसकी जानकारी दी है.

देबाशीष पांडा ने कुछ देर पहले ट्वीट किया, 'PM गरीब कल्याण पैकेज के तहत PMJDY के महिला खाता धारकों को Rs.500 की मई माह की किश्त बैंकों में भेजी जा रही है. पैसे पूरी तरह सुरक्षित हैं, बैंकों में भीड़ से बचने के लिए नीचे वाले समय सारणी अनुसार ब्रांच, CSP, बैंक मित्रों से रक़म लें. स्वस्थ रहे, सुरक्षित रहें.' 

बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बीते गुरुवार गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah), वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ COVID-19 महामारी के मद्देनजर अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय निवेश बढ़ाने के साथ-साथ अधिक विदेशी निवेश आकर्षित करने के विभिन्न उपायों पर विस्तार से चर्चा की थी.

पीएम मोदी ने बैठक के दौरान सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि निवेशकों को बनाये रखने, उनकी समस्याओं को देखने तथा उन्हें समयबद्ध तरीके से सभी आवश्यक केंद्रीय और राज्य मंजूरियां प्राप्त करने में मदद करने के हर संभव कदम सक्रियता से उठाए जाने चाहिए. बैठक में तेजी से देश में निवेश लाने और भारतीय घरेलू क्षेत्र को बढ़ावा देने की विभिन्न रणनीतियों पर भी चर्चा हुई.

गौरतलब है कि दुनियाभर के देशों के साथ-साथ भारत में भी कोरोनावायरस का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है. रिपोर्ट्स के अनुसार, 180 से ज्यादा देशों में फैल चुका यह वायरस अब तक दो लाख से ज्यादा जानें ले चुका है. दुनियाभर में 33 लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं. भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 37,336 हो गई है. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,293 नए मामले सामने आए हैं और 71 लोगों की मौत हुई है. देश में अभी तक 1,218 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि 9,951 मरीज इस बीमारी को मात देने में सफल भी हुए हैं.

देश के लगभग सभी राज्यों से इसके मरीज सामने आ रहे हैं. केंद्र सरकार ने इससे बचाव के चलते ही देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी. जिसके बाद 14 अप्रैल को पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देश की जनता को संबोधित करते हुए 19 दिनों के लिए लॉकडाउन को आगे बढ़ाए जाने की जानकारी दी. 3 मई को यह खत्म होगा लेकिन बीते दिन एक बार फिर सरकार ने इसे दो हफ्ते के लिए बढ़ा दिया है. कोरोना को लेकर देश के सभी जिलों को तीन जोन (रेड, ऑरेंज और ग्रीन) में बांटा गया है. ऑरेंज और ग्रीन जोन में आने वाले जिलों को 4 मई से लॉकडाउन से थोड़ी रियायत मिलेगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: जो कोरोना को पराजित कर चुके हैं आज हमें उनसे प्रेरणा लेनी है : PM मोदी