Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

DGCA ने राहुल गांधी के विमान में आई गड़बड़ी के लिए पायलटों को जिम्मेदार बताया

डीजीसीए ने इस साल अप्रैल में उत्तरी कर्नाटक के हुबली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के चार्टर्ड विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के कगार पर पहुंच जाने के लिए पायलटों को जिम्मेदार ठहराया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
DGCA ने राहुल गांधी के विमान में आई गड़बड़ी के लिए पायलटों को जिम्मेदार बताया

राहुल गांधी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राहुल गांधी के विमान में आई गड़बड़ी के लिए पायलट जिम्मेदार
  2. डीजीसीए ने कही यह बात
  3. राहुल का विमान हुबली हवाई अड्डे पर उतरने से पहले नीचे झुक गया था
मुंबई:

विमानन नियामक संस्था नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने इस साल अप्रैल में उत्तरी कर्नाटक के हुबली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के चार्टर्ड विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के कगार पर पहुंच जाने के लिए पायलटों को जिम्मेदार ठहराया है. 26 अप्रैल को गांधी को लेकर जा रहा दस सीटों वाला यह चार्टर्ड विमान उत्तरी कर्नाटक में हुबली हवाई अड्डे पर उतरने से पहले बायीं तरफ काफी नीचे झुक गया था और तेज कंपन के साथ वह काफी नीचे आ गया था. डीजीसीए के अनुसार विमान में गांधी के अलावा चार अन्य यात्री, दो पायलट, एक केबिन सदस्य, एक इंजीनियर थे. इस विमान के साथ ‘जानबूझकर छेड़छाड़’ का आरोप लगाते हुए कांग्रेस पार्टी ने विमान के ‘संदिग्ध और त्रुटिपूर्ण प्रदर्शन’ की जांच की मांग की थी. 

यह भी पढ़ें: राफेल को लेकर राहुल ने फिर किया मोदी सरकार पर हमला, बोले- यह वैश्विक भ्रष्टाचार है


टिप्पणियां

शुक्रवार को सार्वजनिक हुई 30 पन्नों की अपनी रिपोर्ट में डीजीसीए की दो सदस्यीय समिति ने लिगारे एविएशन संचालित इस निजी फाल्कन 2000 जेट विमान में पहले से कोई गड़बड़ी होने से इनकार किया है. डीजीसीए ने इस घटना की जांच के लिए यह समिति बनायी थी. महानिदेशालय ने चार महीने पुरानी इस घटना के बारे में अपनी रिपोर्ट में कहा है, ‘‘चालक दल ने केवल तभी कार्रवाई की जब मास्टर ने चेतावनी दी यानी ऑटोपायलट के हटने के 15 सेंकेंड के अंदर.’’ ऐसी चेतावनी कॉकपिट में लाल बत्ती और स्वर चेतावनी के रूप में आती है और पायलट को किसी भी हादसे को टालने के लिए तुरंत कदम उठाना होता है. 

VIDEO: प्राइम टाइम : नाकाम रही नोटबंदी?
डीजीसीए ने कहा है, ‘‘संस्थागत जागरुकता के अभाव में विमान को नियंत्रित करने के लिए चालक दल द्वारा कदम उठाने में थोड़ी देरी हुई.’’ इस घटना के बाद गांधी के करीबी कौशल विद्यार्थी ने स्थानीय पुलिस में शिकायत दर्ज करायी थी और चिंता प्रकट करते हुए कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक को भी पत्र लिखा था. विद्यार्थी भी गांधी के साथ थे. इसके बाद नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने इस घटना की विस्तृत जांच का आदेश दिया था.
(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सिर पर मटका लेकर डांस कर रही थीं महिलाएं, ऐसा था डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी का रिएक्शन... देखें Video

Advertisement