NDTV Khabar

विमानों की सुरक्षा पर एनडीटीवी के खुलासे के बाद एयरक्राफ्ट ऑपरेटर को DGCA ने जारी किया समन

एयर वन एवियेशन प्राइवेट लिमिटेड का एम्ब्रेयर ( Embraer) जेट दुनिया के सबसे आलीशान हवाई जहाजों में से एक है.

164 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
विमानों की सुरक्षा पर एनडीटीवी के खुलासे के बाद एयरक्राफ्ट ऑपरेटर को DGCA ने जारी किया समन

एयर वन का विमान

नई दिल्ली: विमानन नियामक डीजीसीए ने अमीरों और प्रसिद्ध लोगों द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले विमान चार्टर एयरलाइन वन एवियेशन प्राइवेट लिमिटेड के एक्जीक्यूटिव को असुरक्षित मैंन्टनेंस के लिए समन जारी किया है. बता दें कि वन एवियेशन प्राइवेट लिमिटेड का एम्बरार ( Embraer) जेट दुनिया के सबसे आलीशान हवाई जहाजों में से एक है. मगर जो तथ्य सामने आए हैं उससे यह साफ जाहिर होता है कि इस विमान के भारतीय मालिक इसके रख-रखाव में कंजूसी बरत रहे हैं और नियामक की गाइडलाइन को भी फॉलो नहीं कर रहे हैं. 

एनडीटीवी ने पाया कि रूटीन मरम्मत कार्य के लिए Embraer विमान की मशीन महाराष्ट्र के गोंडिया में खुली पड़ी है, जबकि मरम्मत के दौरान इसे धूल मुक्त माहौल की ज़रूरत होती है और इसके पास ऐसा करने की रेग्युलेटर की अनुमति भी नहीं.  यानी बिना नियामक की अनुमति के महाराष्ट्र में इस विमान की रूटीन मरम्मत की जा रही है. बता दें कि इस विमान में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई वीवीआईपी तक सफर कर चुके हैं. 

एनडीटीवी की पड़ताल को ध्यान में रखते हुए डीजीसीए के पवन कुमार ने एयर वन के अधिकारी को समन जारी किया है. Embraer को करीब 4800 घंटों की उड़ान के बाद ब्राज़ील की कंपनी को मरम्मत के लिए भेजा जाना चाहिए यानी साल में कम से कम एक या दो बार. मगर ऐसा नहीं किया जा रहा है. 
 
embraer gondia

सहारा के पूर्व CEO आलोक शर्मा जो इस तरह के 3 विमानों के मालिक हैं, उन पर आरोप है कि वो कुछ जुगाड़ लगा कर पैसों की बचत कर रहे हैं. एनडीटीवी को मिली इन तस्वीरों में दिख रहा है कि ये मशीन महाराष्ट्र के गोंडिया में खुली पड़ी है, जबकि मरम्मत के दौरान इसे धूल मुक्त माहौल की ज़रूरत होती है. हालांकि, embraer का कहना है कि भारत में उसका कोई भी अधिकृत सेवा केंद्र नहीं है.

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने पाया है कि एयर वन के पास योग्य कर्मचारी और उन्नत टूल नहीं हैं, जो ब्राजील द्वारा बनाए गए एम्ब्रेयर लाइनेज जेट का सामान्य तौर पर रखरखाव कर सके और उसकी मरम्मत कर सके. खास बात है कि मुंबई से करीब 1,000 किलोमीटर दूर गोंदिया में ऐसा कोई सेवा केंद्र नहीं है, जो ब्राजील के विमान निर्माताओं की अधिकृत सेवा केंद्रों की सूची में शामिल हो. 

हालांकि, बताया जा रहा है कि गोंडिया में विमान की सर्विस करने की अनुमति एक बार डीडीसीए ने दी थी. मगर ये अनुमति सर्टिफिकेट इसी साल फ़रवरी में जारी किया गया था, जिसकी मियाद मई तक है. मगर ताज्जबु की बात है कि यह विमान जनवरी में खोला गया और गोंडिया में 26 दिसंबर को उड़ा कर ले जाया गया था. 
 
embraer gondia

जब एनडीटीवी ने अपनी पड़ताल की बात डीजीसीए के बीएस भुल्लर को बताई तो उन्होंने कहा कि किसी भी उल्लंघन पर कार्रवाई की जाएगी. हालांकि, इस बारे में अभी तक कोई जवाब नहीं मिला कि भारत में नियामकों ने इसकी इजाजत भी कैसे दे दी, जब वायुसेना के विमानों के रख-रखाव पर बहुत ही कड़े नियमों का पालन होता है. 

टिप्पणियां
इस मामले पर वीके सिंह से पूछे जाने पर उन्होंने इस बारे में किसी तरह की जानकारी होने से इनकार किया. वहीं किरन रिजीजू ने कहा कि सुरक्षा सबसे बड़ी प्राथमिकता है और इस पर किसी तरह का समझौता नहीं हो सकता. डीजीसीए ने कहा कि एयर वन ने अपनी विमान Embraer का मरम्मत का काम रोक दिया है. डीजीसीए ने कहा कि वह गोंदिया हैंगर में एक टीम भेजकर यह देखना चाहेंगे कि विमान चार्टर सुरक्षा के दिशा-निर्देशों का पालन कर रहा है या नहीं. 

गौरतलब है कि Embraer दुनिया के सबसे आलीशान हवाई जहाज़ों में एक है. इसमें पांच बेडरूम हैं. इसमें लगे फ्लैट बेड्स काफी आरामदायक होते हैं, जिसमें 17 लोग आराम से सफ़र कर सकते हैं. इस जहाज़ से असरदार लोग देश भर में घूमते हैं.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement