NDTV Khabar

रेप के दोषी गुरमीत राम रहीम को उसके सुरक्षाकर्मी क्या भगाने की फिराक में थे?

हरियाणा पुलिस सूत्रों ने कहा कि निश्चित तौर पर डेरा प्रमुख के सुरक्षा कर्मियों ने एक निजी वाहन से उन्हें भगाने का प्रयास किया था.

1.2K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
रेप के दोषी गुरमीत राम रहीम को उसके सुरक्षाकर्मी क्या भगाने की फिराक में थे?

गुरमीत राम रहीम ( फाइल फोटो)

खास बातें

  1. हरियाणा पुलिस के अधिकार का बयान
  2. निजी वाहन में थी भगाने की तैयारी
  3. समर्थकों के बीच जाने का था प्लान
नई दिल्ली: पंचकूला में उपजे हालात के बीच अब एक सवाल इस समय चर्चा का विषय बना हुआ कि क्या शुक्रवार को डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दुष्कर्म का दोषी करार दिए जाने के बाद स्वयंभू धर्मगुरु की सुरक्षा में लगे सुरक्षा कर्मियों ने अदालत परिसर से ही उन्हें भगाने में मदद देने की कोशिश की थी ? हरियाणा पुलिस सूत्रों ने कहा कि निश्चित तौर पर डेरा प्रमुख के सुरक्षा कर्मियों ने एक निजी वाहन से उन्हें भगाने का प्रयास किया था. विडंबना यह है कि डेरा प्रमुख की सुरक्षा में लगे इन सुरक्षा कर्मियों में उनके निजी कमांडो के अलावा हरियाणा पुलिस के ही कर्मचारी शामिल थे.

पढ़ें :पत्रकारों की कार लेकर भाग गए राम रहीम के समर्थक, कैमरा भी छीना

टिप्पणियां
हरियाणा पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, "अदालत परिसर से राम रहीम की जेड प्लस सुरक्षा में लगे कर्मियों के साथ उनके सुरक्षा कर्मियों ने अपने वाहन से उन्हें भगाने का प्रयास किया था. वे उन्हें उनके हजारों समर्थकों के पास ले जाना चाहते थे, जो अदालत परिसर से एक किमी की दूरी पर ही जमा थे. अगर डेरा प्रमुख अपने भक्तों के बीच पहुंच जाते तो सुरक्षाकर्मियों के लिए लोगों को हताहत किए बिना राम रहीम को गिरफ्तार करना बहुत कठिन हो जाता."



सुरक्षाकर्मियों पर देशद्रोह का मुकदमा
डेरा सच्चा सौदा प्रमुख की सुरक्षा में तैनात हरियाणा पुलिस के पांच कर्मियों समेत सात लोगों के खिलाफ देशद्रोह और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है. ये लोग 25 अगस्त को डेरा प्रमुख की सुरक्षा में तैनात थे जब पंचकूला की सीबीआई अदालत ने फैसला सुनाया था. पंचकूला पुलिस (सेक्टर-5) के इंस्पेक्टर करमवीर सिंह ने आज बताया कि सात लोगों के खिलाफ राजद्रोह के आरोप लगाए गए हैं.  इनमें पांच हरियाणा पुलिस के कर्मी हैं. उन्होंने बताया कि उन लोगों पर हत्या के प्रयास का भी आरोप लगाया गया है. पुलिस ने कहा कि जब सीबीआई अदालत ने बलात्कार के 15 साल पुराने मामले में डेरा प्रमुख को दोषी ठहराया था और डेरा प्रमुख को पंचकूला अदालत परिसर से बाहर लाया गया था, उस समय इन सात सुरक्षाकर्मियों ने डेरा प्रमुख को कथित तौर पर छुड़ाने की कोशिश की थी. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement