NDTV Khabar

मैंने 'हिंदू आतंकवाद' नहीं हमेशा 'संघी आतंकवाद' शब्द का इस्तेमाल किया है : दिग्विजय सिंह

उन्होंने आगे कहा, 'कोई भी आतंकवादी घटना धर्म के आधार पर तय नहीं की जा सकती है. कोई भी धर्म आतंकवाद को समर्थन नहीं करता है.

1KShare
ईमेल करें
टिप्पणियां
मैंने 'हिंदू आतंकवाद' नहीं हमेशा 'संघी आतंकवाद' शब्द का इस्तेमाल किया है : दिग्विजय सिंह

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अपने बेबाक बयानों के लिये जाने जाते हैं

खास बातें

  1. 'मैंने संघी आतंकवाद की बात कही'
  2. 'विस्फोट करने वाले संघ की विचारधारा से थे प्रभावित'
  3. 'मैंने कभी हिंदू आतंकवाद की बात नहीं की'
नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंहने कहा है कि उन्होंने हमेशा 'संघी आतंकवाद' इस्तेमाल किया है. उन्होंने कहा कि कभी 'हिंदू आतंकवाद' की बात कभी नहीं की है. दिग्विजय सिंह ने कहा कि आतंकवाद को कभी किसी धर्म से नहीं जोड़ा जा सकता है. पत्रकारों से बातचीत करते हुये मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, 'आपके पास गलत सूचना है कि दिग्विजय सिंह ने हिंदू आतंकवाद की बात कही है. मैंने हमेशा संघी आतंकवाद की बात की है.'  उन्होंने आगे कहा, 'कोई भी आतंकवादी घटना धर्म के आधार पर तय नहीं की जा सकती है. कोई भी धर्म आतंकवाद को समर्थन नहीं करता है.' ​

पाकिस्तान के मेट्रो पिलर की तस्वीर ट्वीट कर दिग्विजय सिंह ने फिर कराई फजीहत, मांगी माफी

टिप्पणियां
उन्होंने आगे कहा, 'कोई भी आतंकवादी घटना धर्म के आधार पर तय नहीं की जा सकती है. कोई भी धर्म आतंकवाद को समर्थन नहीं करता है.' अपनी बात पर जोर देते हुये दिग्विजय सिंह ने कहा कि बम विस्फोट जिन लोगों ने किया था वह संघ की विचारधारा से प्रभावित थे फिर चाहे वह मालेगांव, मक्का मस्जिद, समझौता एक्सप्रेस या फिर दरगाह शरीफ बम विस्फोट कांड रहा हो. 

वीडियो : MP चुनाव पर बोले दिग्विजय, कांग्रेस के पास सुनहरा मौका​

दिग्विजय ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ हिंसा और घृणा फैलाता रहा है फिर आतंकवाद को जन्म देने लगा. वहीं दिग्विजय सिंह की ओर से आए इस बयान पर बीजेपी ने कहा है कि जो लोग संघ से जुड़े हैं उनकी भावनाओं को आहत हुई हैं. बीजेपी सांसद संजय पाठक ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि कोई भी शख्स अगर धर्म का पालन करता है, गलत नहीं कर सकता है. कोई भी धर्म कट्टरता नहीं सिखाता है. जो भी भी भारत में हैं उनको हिंदू कहा जायेगा. इस पर सबकी अलग-अलग राय हो सकती है. लेकिन मेरी नजर में हर भारतीय हिंदू है फिर चाहे वह किसी भी जाति या संप्रदाय का हो. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement