NDTV Khabar

सर्जिकल स्‍ट्राइक : दिग्विजय सिंह ने रक्षा मंत्री पर्रिकर के RSS संबंधी बयान को लेकर निशाना साधा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सर्जिकल स्‍ट्राइक : दिग्विजय सिंह ने रक्षा मंत्री पर्रिकर के RSS संबंधी बयान को लेकर निशाना साधा

दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर सर्जिकल स्‍ट्राइक मुद्दे के राजनीतिकरण का आरोप लगाया है (फाइल फोटो)

हैदराबाद:

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्दिवजय सिंह ने नियंत्रण रेखा के पार लक्षित हमला (सर्जिकल स्‍ट्राइक) करने के फैसले के लिए आरएसएस की शिक्षा-दीक्षा को श्रेय देने की कोशिश संबंधी रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के बयान को अपमानजनक करार दिया.

कांग्रेस महासचिव इस बात से सहमत नजर आए कि कुछ वर्गों में यह धारणा है कि भाजपा लक्षित हमले का राजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा, ‘निश्चित ही, (भाजपा लक्षित हमलों का राजनीतिक फायदा उठाने का प्रयास कर रही है) क्या आपको इसमें कोई शक है? क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि रक्षा मंत्री यह कहें कि लक्षित हमला आरएसएस की शिक्षा-दीक्षा की वजह से हुआ?’ उन्होंने भाजपा की अगुवाई वाली सरकार अगले चुनावों को जीतने के लिए पाकिस्तान के साथ सीमित युद्ध की रणनीति अपनाने का आरोप लगाया.

यह पूछे जाने पर क्या सरकार पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय रूप से अलग-थल करने की कोशिश में चीजें बहुत दूर तक ले जा रही है, उन्होंने कहा, ‘चूंकि वह हर मोर्चे पर विफल रही है, अतएव उसे मालूम है कि वह पाकिस्तान के साथ सीमित युद्ध के बगैर अगले चुनाव नहीं जीत सकती है.’हालांकि कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य ने यह स्पष्ट नहीं किया कि वह अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश का जिक्र कर रहे हैं या 2019 के आम चुनाव की.


टिप्पणियां

सिंह ने तनाव कम करने के लिए पाकिस्तान के साथ वार्ता का पक्ष लेते हुए कहा, ‘अटल बिहारी वाजपेयी ने सही ही कहा था कि हमारे पास विकल्प नहीं है. हम अपने पड़ोसी चुन नहीं सकते. पाकिस्तान हमारा पड़ोसी है. हमारे पास वार्ता के सिवा कोई विकल्प नहीं है और सौहाद्र्रपूर्ण वार्ता करनी चाहिए.’जब उनसे पूछा गया कि क्या उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले राममंदिर का मुद्दा राजनीतिक विमर्श के केंद्र में आने जा रहा है, तो उन्होंने कहा, ‘लोग अब समझदार हो गए हैं. हर बार जब चुनाव होता है तो वह (भाजपा) राम मंदिर मुद्दे को लेकर आती है. वर्ष 2007 और 2012 (उत्तरप्रदेश चुनावों) में वह इसे लेकर सामने आई थी लेकिन उसे तब चुनावों में कोई फायदा नहीं मिला.’

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement