NDTV Khabar

अयोध्या में ऐतिहासिक दिवाली, हेलीकॉप्टर से आई राम की सवारी, सीएम योगी ने उतारी आरती

अयोध्या में तैयारी ऐसी है जैसे जमाने पहले भगवान राम के वनवास से लौटने के बाद यहां दिवाली मनाई गई थी. पुष्पक विमान की जगह हेलीकॉप्टर के जरिये भगवान राम की सवारी उतरी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अयोध्या में ऐतिहासिक दिवाली, हेलीकॉप्टर से आई राम की सवारी, सीएम योगी ने उतारी आरती

अयोध्या में दीवाली पर खास रौनक

खास बातें

  1. दीवाली के मौके पर अयोध्या में खास तैयारियां
  2. रामलीला के मंचन के लिए विदेशों से बुलाए कलाकार
  3. सरयू नदी पर लाखों दीपक जलाए जाएंगे
अयोध्या: अयोध्या में इतिहास की सबसे बड़ी दीवाली मनाई जा रही है. भगवान राम के आगमन पर अयोध्या में भव्य तैयारी है. सरयू नदी पर राम की पैड़ी में दीप उत्सव मनाया जा रहा है. अयोध्या में तैयारी ऐसी है जैसे जमाने पहले भगवान राम के वनवास से लौटने के बाद यहां दिवाली मनाई गई थी. पुष्पक विमान की जगह हेलीकॉप्टर के जरिये भगवान राम की सवारी उतरी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवान राम को तिलक लगाया और फिर आरती उतारी.

दीपावली की पूर्व संध्या पर 12 हजार लीटर तेल से अयोध्या में जगमग होंगे 2.40 लाख दीये

इस मौके पर सरयू घाट पर क़रीब दो लाख दिए भी जलाए जाएंगे. इसके अलावा लेजर शो के अलावा रामलीला का मंचन का कार्यक्रम भी है, जिसके लिए थाईलैंड और श्रीलंका से भी कलाकार यहां पहुंचे हुए हैं. इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या के लिए कई योजनाओं की भी शुरुआत करेंगे. माना जाता है कि त्रेता युग में 14 साल का वनवास काटकर और लंका विजय कर अयोध्या लौटे भगवान राम का जोरदार स्वागत किया गया था और राम की नगरी को दीपों से सजाया गया था.

टिप्पणियां
सपा के पास खोने को कुछ नहीं, अब तो सिर्फ पाना ही पाना है : अखिलेश यादव
 
saryu

इस बार दीपावली पर अयोध्या में खास रौनक है. बाजार सजे हुए हैं. सड़कों पर श्रद्धालुओं की भीड़ है. लोग भी इस खास दीपावली के इंतजार में हैं. इस त्योहार में तीन दिन तक अयोध्या की सड़कों पर मेला जैसा माहौल होता है. सड़कों पर दुकानें लगती हैं. आतिशबाजी, खील-बतासे, खिलौने और अन्य सजावटी सामान बिकता है.

त्रेता युग की दिवाली को अयोध्या में ऐसे दोहराएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ, जानें क्या है मामला

पटरी कारोबारियों को लगता है कि अयोध्या का विकास होना चाहिए. दुकानदारों का कहना है कि नेता आएं कोई बात नहीं, लेकिन सुरक्षा के नाम पर उन्हें नहीं हटाना चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement