NDTV Khabar

एनजीटी का फरमान, घरेलू बोरवेल के लिए भी लेनी होगी CGWA की इजाजत

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एनजीटी का फरमान, घरेलू बोरवेल के लिए भी लेनी होगी CGWA की इजाजत

जमीनी पानी दोहन के लिए घर-घर में लगते बोरवेल एक बड़ी समस्या बनते जा रहे हैं

नई दिल्ली:

जमीनी पानी के बढ़ते दोहन पर लगाम लगाने के लिए एनजीटी ने घरेलू बोरवेल कनेक्शन पर लगाम लगाने का फैसला किया है. इसके तहत पेयजल के लिए घरेलू बोरवेल पर निर्भर ऐसे लोगों, जिनके पास पानी की सप्लाई के वैकल्पिक स्रोत नहीं हैं, उन्हें केंद्रीय भूमिगत जल प्राधिकरण (सीजीडब्ल्यूए) से बोरवेल के लिए इजाजत लेने की जरूरत होगी. 

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद और हापुड़ जिलों में उद्योगों, निजी लोगों, बिल्डरों या पानी टैंकर आपूर्तिकर्ताओं के बोरवेल को एक हफ्ते के अंदर सील करने का निर्देश दिया था.

टिप्पणियां

हालांकि, हरित अधिकरण ने साफ किया है कि उसका इरादा स्थानीय बाशिंदों का जीवन प्रभावित करना नहीं है जो जीवित रहने के लिए भूजल पर निर्भर हैं. इसने सभी घरेलू उपभेाक्ताओं से इजाजत के लिए आवेदन देने को कहा, बशर्ते कि उन्होंने अब तक ऐसा नहीं किया हो.


(इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement