NDTV Khabar

जब प्रशासन की नाक के नीचे हुई जेलों में गैंगवार और गई कैदियों की जान, ये हैं 5 चर्चित मामले

आशंका के बावजूद जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या कर दी गई. यह पहला मामला नहीं है जब जेल में गैंगवार हुई हो और इसमें कैदियों की जान गई हो.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब प्रशासन की नाक के नीचे हुई जेलों में गैंगवार और गई कैदियों की जान, ये हैं 5 चर्चित मामले

मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या कर दी गई है. पहले भी जेलों में गैंगवार की घटनाएं सामने आ चुकी हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बागपत जेल में डॉन मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई
  2. पहले भी तमाम जेलों में गैंगवार और हत्या के मामले सामने आए हैं
  3. तमाम घटनाओं के बावजूद प्रशासन नहीं चेता है
नई दिल्ली : बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के आरोपी मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या कर दी गई है. पूर्वांचल में खौफ और गैंगवार का सबसे बड़ा पर्याय रहे मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने कुछ दिन पहले ही आशंका जताई थी कि एसटीएफ उसके पति की हत्या करवा सकती है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सुरक्षा की गुहार लगाई थी. हालांकि इस आशंका के बावजूद जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या कर दी गई. यह पहला मामला नहीं है जब जेल में गैंगवार हुई हो और इसमें कैदियों की जान गई हो. इससे पहले कई बार जेलों में गैंगवार के मामले सामने आए हैं और उसमें कैदियों की जान गई है. आइये आपको हाल-फिलहाल में जेलों के अंदर हुए ऐसे ही 5 खूनी गैंगवार के बारे में बताते हैं.  

पूर्वांचल में आतंक का पर्याय रहे डॉन मुन्ना बजरंगी की उत्तर प्रदेश की बागपत जेल में गोली मारकर हत्या

मथुरा की जेल में गैंगवार, कुख्यात राजेश टोटा की हुई थी मौत : 
जनवरी 2015 में उत्तर प्रदेश की मथुरा की जिला जेल में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुख्यात ब्रजेश मावी और राजेश टोटा गैंग के बीच हुए गैंगवार ने उत्तर प्रदेश की जेलों में कैदियों की सुरक्षा पर बड़ा प्रश्व खड़ा किया था. इस गैंगवार में एक कैदी अक्षय सोलंकी को जेल में ही गोलियों से भून दिया गया. जबकि राजेश टोटा को गोली लगने के बाद घायल अवस्था में पुलिस एंबुलेंस से आगरा ले जा रही थी. इसी दौरान रास्ते में एंबुलेस पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई. जिसमें राजेश टोटा की मौके पर ही मौत हो गई थी. जबकि एंबुलेंस में मौजूद सिपाही भी घायल हो गए थे. 

बीकानेर जेल में खूनी संघर्ष, तीन कैदियों की गई थी जान : 
2015 में ही राजस्थान के बीकानेर जेल में गैंगवार के दौरान तीन कैदियों की मौत हो गई थी. जेल में ही बंद जयप्रकाश नाम के कैदी ने बलवीर बानूडा नाम के कैदी की गोली मारकर हत्या कर दी. इसके बाद बानूडा गुट के कैदियों ने गोली मारने वाले जयप्रकाश और एक अन्य कैदी रामपाल की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी. खबरों के मुताबिक जयप्रकाश और बलवीर बानूडा के उपर तमाम मामले थे और दोनों गुटों में दुश्मनी थी. जेल में आमना-सामना होने पर दोनों एक-दूसरे के खून के प्यासे हो गए थे. गैंगवार में दोनों की जान चली गई.

'नाक की लड़ाई' के लिए हुआ बुराड़ी में गैंगवार, बुलेटप्रूफ स्कॉर्पियो भी नहीं बचा सकी जान

तिहाड़ में खूनी गैंगवार में गई थी दो कैदियों की जान :
देश की सबसे सुरक्षित जेलों में शुमार दिल्ली की तिहाड़ जेल में कई बार गैंगवार की घटनाएं हो चुकी हैं. 2015 में तिहाड़ जेल में बंद कुख्यात बदमाश नीरज बवानिया और नीटू दोबोडिया गैंग के बीच उस समय गैंगवार हो गया, जब उन्हें रोहिणी कोर्ट से वापस जेल ले जाया जा रहा था. इस मारपीट में दो कैदियों की मौत हो गई थी. वहीं, 2017 में तिहाड़ जेल में कैदियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प हो गई थी. झड़प में हिजबुल मुजाहिदीन के प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन के बेटे समेत 18 कैदी घायल हो गये. सलाहउद्दीन का बेटा सैयद शाहिद युसूफ आतंकवाद को वित्त पोषण के मामलों में तिहाड़ जेल में बंद है.
 
मंगलुरू जेल में गैंगवार, दाउद से जुड़े दो कैदियों की हुई थी मौत : 
कर्नाटक के मंगलुरू जेल में 2015 में खूनी गैंगवार में दो कैदियों की मौत हो गई थी. ये दोनों कैदी अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद के दाहिने हाथ छोटा शकील के लिए काम करते थे. जेल में नाश्ते के दौरान अचानक दोनों कैदियों मदूर यूसुफ और गणेश शेट्टी व एक अन्य ग्रुप के बीद गैंगवार हो गई. दोनों गुटों ने एक दूसरे पर धारदार हथियार से हमला कर दिया था. इस दौरान मदूर यूसुफ और गणेश शेट्टी की मौत हो गई थी. वहीं 12 अन्य लोग घायल हो गए थे. 

दिल्ली के रोहिणी इलाके में 20 राउंड से ज्यादा फायरिंग, गैंगवार में एक की हत्या

टिप्पणियां
दिल्ली के रोहिणी जेल में 40 कैदियों में हुआ गैंगवार : 
दिल्ली के रोहिणी जेल में वर्ष 2016 में हुए खूनी गैंगवार ने जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए थे. रोहिणी जेल में कुछ कैदियों में झगड़ा शुरू हुआ और देखते ही देखते करीब 40 कैदी आपस में भिड़ते चले गए. इस दौरान एक-दूसरे पर ब्लेड के वार के साथ लाठी-डंडे भी चले. जेल में वर्चस्व के लिए हुई इस लड़ाई में 17 से ज्यादा कैदियों को गंभीर चोट आई थी. किसी कैदी का कान कटा गया था तो किसी के चेहरे पर गंभीर जख्म आए थे. 

VIDEO: डॉन मुन्ना बजरंगी की उत्तर प्रदेश की बागपत जेल में गोली मारकर हत्या


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement