डॉ कफील खान ने परिवार के साथ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से की मुलाकात

जेल से रिहाई के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कफ़ील खान और उनके परिजनों से फोन पर बातचीत कर उनका हालचाल जाना था

डॉ कफील खान ने परिवार के साथ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से की मुलाकात

डॉ कफील खान ने अपने परिवार के साथ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से दिल्ली में मुलाकात की.

नई दिल्ली:

जेल से छूटने के बाद डॉक्टर कफील खान   (Doctor Kafeel Khan) ने आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) से मुलाकात की. डॉक्टर कफ़ील खान की जेल से रिहाई के बाद कांग्रेस महासचिव ने कफ़ील खान और उनके परिजनों से फोन पर बातचीत कर उनका हालचाल लिया था और हरसंभव मदद का वादा किया था. कफ़ील खान ने अपने परिवार के साथ प्रियंका गांधी से मुलाकात की.

डॉक्टर कफ़ील खान दिल्ली में अपने परिवार के साथ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मिले. डॉक्टर कफ़ील के साथ उनकी पत्नी और बच्चे भी प्रियंका गांधी से मिले.दिल्ली में हुई इस मुलाकात के वक्त यूपी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और अल्पसंख्यक कांग्रेस के चेयरमैन शाहनवाज आलम मौजूद थे. 

यूपी में कांग्रेस पार्टी ने डॉक्टर कफ़ील की रिहाई के लिए एक बड़ा अभियान चलाया था. पूरे सूबे में हस्ताक्षर अभियान, विरोध प्रदर्शन और पत्र लिखकर कांग्रेसियों ने डॉक्टर कफ़ील खान की रिहाई के लिए आवाज़ बुलंद की थी.

NSA के तहत कैद डॉ. कफील खान आधी रात को जेल से रिहा, HC ने हिरासत को बताया था 'गैरकानूनी'

डॉक्टर कफील खान को भड़काऊ भाषण के मामले में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (National Security Act-NSA) के तहत गिरफ्तारी के बाद हाल ही में जेल से रिहा कर दिया गया. उनके कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थीं. उन्होंने कुछ दिन पहले इस पर विराम लगाते हुए कहा कि वे डॉक्टर हैं और डॉक्टर ही बने रहना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस ही नहीं, कोई दूसरी पार्टी भी ज्वाइन करने का नहीं सोच रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किसी अन्य मामले में फंसाए जाने की आशंका के मद्देनजर मानवता के आधार पर मेरी मदद की थी लेकिन इसका यह मतलब नहीं लगाया जाना चाहिए कि मैं कांग्रेस में शामिल होने जा रहा हूं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जेल से रिहा होने के बाद बोले डॉ. कफील खान- राजा 'राजधर्म' नहीं, 'बालहठ' कर रहा है

डॉ कफील ने कहा था कि ‘प्रियंका से राजनीति के सिलसिले में कोई भी बात नहीं हुई है और ना ही प्रियंका की तरफ से मुझे किसी तरह का कोई संकेत मिला है.' उन्होंने कहा, ‘पिछले एक सितंबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद जब मेरी रिहाई में देरी हुई तो यह आशंका होने लगी कि उत्तर प्रदेश सरकार मुझे फिर किसी मामले में फंसाने की तैयारी कर रही है. राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है और मथुरा से भरतपुर का रास्ता महज 20 मिनट का है, लिहाजा प्रियंका ने मुझे भरतपुर आने की पेशकश की थी.'