Yes बैंक पर आए संकट की वजह से जगन्नाथ पुरी मंदिर के फंसे 545 करोड़ रुपये, तो कुमार विश्वास बोले- देते हैं भगवान को धोखा...

आप के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास ने Yes Bank में भगवान जगन्नाथ मंदिर के 545 करोड़ रुपये फंसने पर अपने अंदाज में निशाना साधा.

Yes बैंक पर आए संकट की वजह से जगन्नाथ पुरी मंदिर के फंसे 545 करोड़ रुपये, तो कुमार विश्वास बोले- देते हैं भगवान को धोखा...

Kumar Vishvas ने अपने अंदाज में Yes Bank संकट पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

आप के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास ने Yes Bank में भगवान जगन्नाथ मंदिर के 545 करोड़ रुपये फंसने पर अपने अंदाज में निशाना साधा. कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'देते हैं भगवान को धोखा, इंसा को क्या छोड़ेंगे.' कुमार विश्वास ने यह ट्वीट उस जानकारी को साझा करते हुए लिखा है, जिसमें जानकारी दी गई थी. Yes बैंक पर आए संकट की वजह से सदियों पुराने जगन्नाथ मंदिर के पुजारी और श्रद्धालुओं में चिंता है. बैंक में मंदिर के 545 करोड़ रुपये जमा हैं. बैंक पर संकट के साथ ही  भगवान जगन्नाथ (Jagannath Puri Temple) के नाम जमा 545 करोड़ रुपये की राशि पर अनिश्चितता के बादल मंडराने लगे हैं.  

जगन्नाथ पुरी मंदिर के यस बैंक में फंसे 545 करोड़ रुपये, तो प्रकाश राज बोले- हे भगवान!, आपको भी लाइन में...


बता दें कि RBI ने Yes बैंक पर कई तरह की पाबंदियां लगाई हैं. Yes Bank के जमाकर्ताओं के लिए अगले एक महीने तक निकासी की सीमा 50,000 रुपये तय की गई है. Yes Bank का जहां नई पूंजी जुटाने का प्रयास नाकामयाब रहा, वहीं बैंक से लगातार पर पूंजी निकल रही थी, जिस की वजह से बैंक का संकट गहरा गया. पुरी के इस मंदिर के दैतापति (सेवक) विनायक दासमहापात्रा ने कहा कि रिजर्व बैंक द्वारा येस बैंक पर रोक से सेवक और भक्त आशंकित हैं. उन्होंने कहा, "हम उन लोगों के खिलाफ जांच की मांग करते हैं जिन्होंने थोड़े ज्यादा ब्याज के लालच में निजी क्षेत्र के बैंक में इतनी बड़ी राशि जमा कराई है."

भगवान की मूर्ति के साथ रैली करना पुरी से BJP उम्मीदवार संबित पात्रा को पड़ा महंगा, EC में हुई शिकायत

जगन्नाथ सेना के संयोजक प्रियदर्शी पटनायक ने कहा, "भगवान के धन को निजी क्षेत्र के बैंक में जमा कराना न केवल गैर- कानूनी है बल्कि यह अनैतिक भी है. श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) और मंदिर की प्रबंधन समिति इसके लिए जिम्मेदार है." उन्होंने बताया कि निजी बैंक में पैसा जमा कराने के मामले में पुरी के पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की गई थी लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. इन आशंकाओं को खारिज करते हुए विधि मंत्री प्रताप जेना ने कहा कि यह पैसा बैंक में फिक्सड डिपॉजिट के रूप में रखा गया है सेविंग खातों में नहीं. उन्होंने कहा कि सरकार ने पहले ही FD की म्चोरिटी अवधि इस महीने खत्म होने के बाद इस कोष को Yes Bank से किसी नेशनलाइज बैंक में ट्रांस्फर करने का फैसला किया है. 

Video: PMC बैंक खाताधारकों से मिले मुंबई पुलिस आयुक्त, जगह-जगह प्रदर्शन जारी

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com