कांग्रेस के पोस्टर में 'द्रौपदी वस्त्रहरण' पर विवाद, BJP ने राहुल से की माफी की मांग, प्रियंका गांधी से पूछा सवाल

तेलंगाना में कांग्रेस द्वारा जारी एक पोस्टर की वजह से भाजपा हमलावर हो गई है.

कांग्रेस के पोस्टर में 'द्रौपदी वस्त्रहरण' पर विवाद, BJP ने राहुल से की माफी की मांग, प्रियंका गांधी से पूछा सवाल

तेलंगाना में कांग्रेस के पोस्टर की तस्वीर

नई दिल्ली:

तेलंगाना में कांग्रेस द्वारा जारी एक पोस्टर की वजह से भाजपा हमलावर हो गई है. तेलंगाना में प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस की ओर से 'द्रौपदी वस्त्रहरण' के पोस्टर का इस्तेमाल करने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने राहुल गांधी से बिना शर्त माफी मांगने की मांग की है. हाल ही में हुए तेलंगाना विधानसभा चुनावों में ECI की कथित विफलता के खिलाफ कांग्रेस चुनाव आयोग समन्वय समिति ने विरोध प्रदर्शन किया था. विरोध के एक हिस्से के रूप में कांग्रेस पार्टी ने तेलंगाना में 'द्रौपदी वस्त्रहरण' का चित्रण करने वाले पोस्टर लगाए थे. 

ओडिशा में गरजे राहुल गांधी: मध्यम वर्ग के लिए मोदी सरकार ने कुछ नहीं किया, BJP का माइंडसेट दादागिरी वाला

विवादास्पद पोस्टर में 'द्रौपदी वस्त्रहरण' को दिखाया गया है, जो महाभारत का एक दृश्य है. पोस्टर में मतदाताओं को द्रौपदी के रूप में दिखाया गया है, वहीं, ERO, DEO और CEO को कौरव के रूप में वस्त्र उतारते दिखाया गया है. वहीं, भारतीय चुनाव आयोग (ECI) को धृतराष्ट्र के रूप में दिखाया गया है. जबकि पोस्टर में तेलंगाना के मुख्यमंत्री और टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव और AIMIM सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी मूकदर्शक के रूप में एक तरफ खड़े हैं. इस पोस्टर में मतदाताओं को द्रौपदी के रूप में दिखाया गया है. और इस पूरे पोस्टर को कैप्शन दिया गया है- तेलंगाना में लोकतंत्र.

सुमित्रा महाजन ने प्रियंका गांधी को लेकर किया तंज, कहा- राहुल अकेले नहीं संभाल सके इसलिए बहन से ली मदद 

इस विवाद के बाद, बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता कृष्ण सागर राव ने एक वीडियो जारी किया जिसमें कांग्रेस नेताओं को हैदराबाद में चुनाव आयोग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए एक डिजाइन टेम्पलेट के रूप में 'द्रौपदी वस्त्रप्रहरण' का उपयोग करने की अनुमति देने के लिए राहुल से बिना शर्त माफी मांगने की मांग की गई. 

दिल्ली के 'दरवाजे' अब भी बंद नहीं, शीला दीक्षित और अरविंद केजरीवाल की मुलाकात, क्या बनेगी गठजोड़ की बात?

उन्होंने कांग्रेस की नवनियुक्त महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से भी सवाल किया, "क्या वह इस तरह की बात को स्वीकार करेंगे, जहां एक राजनीतिक पार्टी द्वारा विरोध के लिए पोस्टर में महिलाओं और हिंदू पौराणिक पात्रों को कार्टून के रूप में इस्तेमाल किया गया.

प्रियंका की एंट्री के बाद नए तेवर में कांग्रेस, आंध्र प्रदेश के बाद अब पश्चिम बंगाल में भी 'एकला चलो' रणनीति पर फोकस

इस बीच, एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अपनी मांगों के लिए विरोध प्रदर्शन करना हर किसी का अधिकार है, लेकिन तेलंगाना के मुख्यमंत्री वाले पोस्टर लगाकर कांग्रेस पार्टी ने जिस तरह का काम किया है, वह पूरी तरह से गलत है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: प्रियंका गांधी के आने से कांग्रेस को कितना फायदा?