कोरोनावायरस से जंग में DRDO ने बनाया नया PPE किट, 10 दिन तक किया जा सकेगा इस्तेमाल

डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) ने कोरोनावायरस के संक्रमितों से बचने के चिकित्सक टीम के लिए नए तरीके पीपीई किट तैयार किया है.

नई दिल्ली:

डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) ने कोरोनावायरस के संक्रमितों से बचने के चिकित्सक टीम के लिए नए तरीके पीपीई किट तैयार किया है. अब तक इस्तेमाल में एक ही बार एक पीपीई किट आता था, लेकिन अब एक पीपीई किट को दस बार इस्तेमाल किया जा सकता है. डीआरडीओ के लाइफ साइंस के डीजी डॉक्टर एके सिंह से एनडीटीवी की एक्सक्लूसिव बातचीत हुई.

उन्होंने बताया कि डीआरडीओ ने पीपीई किट यानि कि बॉडी ओवरऑल एक ऐसे मटेरियल का था जिसके अंदर पोली योरीथिन कोटिंग है वो पूरा स्टैंडर्ड पर खरा उतरा है, जिसे भारत सरकार खरीद रही है.

डॉ. एके सिंह ने कहा, ''जब इस किट को सरकार को दिया, फिर हमने रिसर्च किया कि क्या इसको डिस इन्फेक्ट करके दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं तो हमने AIIMS की मदद लेकर देखा कि यह दस बार तक अपनी कोई खासियत को लूज नहीं करता है. इसका हम बार-बार इस्तेमाल कर सकते है.''

डीआरडीओ के लाइफ साइंस के डायरेक्टर जनरल ने आगे बताया कि ये थोड़ा-सा महंगा जरूर है, पर बहुत महंगा नहीं है. इसको HAL 925 रुपए में खरीद रहा है. पीपीई किट एक तरह से सिंथेटिक मटेरियल है, आने वाले समय मे इसका डिस्पोजल बड़ी समस्या होगी. ये जो दोबारा इस्तेमाल होने वाला पीपीई किट है ये बड़ा काम का है. इसके जरिए बार-बार नए किट नहीं लेना पड़ेगा. पर्यावरण का भी कम नुकसान होगा.

उन्होंने कहा, ''जब हमने इसको डिसइन्फेक्ट किया तो उसके हर पहलू का चेक किया हर स्टैंडर्ड को परखा. हमने पाया 10 बार तक अपने कोई प्रॉपर्टीज को नहीं खोया. सारे टेस्ट को पास किया. दो कंपनी इस किट बना रही है और ये सप्लाई भी हो रहा है.''

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com