NDTV Khabar

अब भारतीय सेना के जवान खाएंगे चिकन बिस्किट, मटन बार और एंटी-फैटिंग तुलसी बार...

रक्षामंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा कि अधिकांश खाद्य सामग्रियों का विकास इन तीन वर्षों के दौरान किया गया...

18 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब भारतीय सेना के जवान खाएंगे चिकन बिस्किट, मटन बार और एंटी-फैटिंग तुलसी बार...

फाइल फोटो...

खास बातें

  1. संसद को शुक्रवार को यह जानकारी दी गई.
  2. रक्षामंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में यह जानकारी दी.
  3. डीआरडीओ द्वारा पोषक खाद्य पदार्थों का विकास एक अनवरत प्रक्रिया है- जेटली
नई दिल्‍ली: काफी ऊंचाई तथा बर्फ से ढंके इलाकों में तैनात सैन्य कर्मियों के लिए रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) ने विभिन्न प्रकार के पोषक व प्रोटीन से भरपूर खाद्य सामग्रियों का विकास किया है. संसद को शुक्रवार को यह जानकारी दी गई.

रक्षामंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा कि अधिकांश खाद्य सामग्रियों का विकास इन तीन वर्षों के दौरान किया गया और इस साल चिकन बिस्किट, प्रोटीन से भरपूर मटन बार, कंपोजिट सीरियल बार, एग प्रोटीन बिस्किट, आयरन व प्रोटीन युक्त फूड बार, चिकन काठी रोल तथा एंटी-फैटिंग तुलसी बार का विकास किया गया.

ये भी पढ़ें...
इस्राइल का भारत के साथ दो अरब डॉलर का मिसाइल करार, 'मेक इन इंडिया' के तहत करेगा विकसित
स्वदेशी बोफोर्स तोपों के लिए चीन में बने नकली कल-पुर्जे भेज दिए, दिल्‍ली की कंपनी के खिलाफ FIR दर्ज

उन्होंने कहा, "डीआरडीओ में कोई खाद्य उत्पादन इकाई नहीं है. हालांकि इन उत्पादों के विकास के बाद इसकी तकनीकों को विभिन्न उद्योगों को स्थानांतरित किया गया है, ताकि भारी मात्रा में उनका उत्पादन हो सके".



उन्होंने कहा कि सशस्त्र बलों के लिए डीआरडीओ द्वारा पोषक खाद्य पदार्थों का विकास एक अनवरत प्रक्रिया है, जो उनकी जरूरत तथा क्षेत्र में अतिउन्नत प्रौद्योगिकी शोध पर आधारित है.

(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement