मुम्बई दूसरा सीरो-सर्वे: झुग्गी-बस्ती इलाके में संक्रमण कम होने के संकेत, 12% कम मिले एंटीबॉडी

सर्वेक्षण बीएमसी, नीति आयोग और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (टीआईएफआर) द्वारा किया गया. मुम्बई देश में कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित शहरों में से एक है.

मुम्बई दूसरा सीरो-सर्वे: झुग्गी-बस्ती इलाके में संक्रमण कम होने के संकेत, 12% कम मिले एंटीबॉडी

मुम्बई देश में कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित शहरों में से एक है. (फाइल फोटो)

मुंबई:

मुम्बई के झुग्गी-बस्ती इलाके में किए गए दूसरे सीरो-सर्वे में पहले की तुलना में 12 प्रतिशत कम लोगों में ‘एंटीबॉडी' पाए गये हैं. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि इससे शहर की झुग्गी-बस्तियों में संक्रमण कम होने का संकेत मिला है. किसी व्यक्ति के शरीर में ‘एंटीबॉडी' पाए जाने का मतलब है कि वह कभी ना कभी कोरोना वायरस की चपेट में आया है. 

Newsbeep

विज्ञप्ति में बताया गया कि नए सीरो-सर्वे में 45 प्रतिशत लोगों में ‘एंटीबॉडी' पाए गए. जुलाई में किए गए पहले सीरो-सर्वे में 57 प्रतिशत लोगों में ‘एंटीबॉडी' पाए गए थे. वहीं ‘सीरो-प्रिवलेंस' (जनसंख्या में रोगियों का स्तर, जैसा कि रक्त सीरम में मापा जाता है) दोनों सर्वेक्षणों में पुरुषों की तुलना में महिलाओं में थोड़ा अधिक रहा. स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों में दोनों सर्वेक्षणों में ‘सीरो-प्रेवलेंस' करीब 27 प्रतिशत था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सर्वेक्षण बीएमसी, नीति आयोग और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (टीआईएफआर) द्वारा किया गया. मुम्बई देश में कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित शहरों में से एक है. यहां अभी तक संक्रमण के दो लाख से अधिक मामले सामने ओ चुके हैं और करीब नौ हजार लोगों की इससे मौत हुई है.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)