NDTV Khabar

एक साल के भीतर डीयू होगा एडहॉक लेक्चरर्स से मुक्त: प्रकाश जावड़ेकर

जावड़ेकर ने कहा कि कॉलेजों को ऑटोनॉमी देने पर या स्वायत्ता के कारण केंद्रीय शिक्षण संस्थानों को दी जाने वाली अनुदान राशि में किसी तरह की कटौती नहीं होगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एक साल के भीतर डीयू होगा एडहॉक लेक्चरर्स से मुक्त: प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर

नई दिल्ली:

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि डीयू (दिल्ली विश्वविद्यालय) में एडहॉक लेक्चरर्स का चलन खत्म कर देगी. उन्होंने कहा कि सालभर में डीयू में एडहॉक लेक्चरर्स की बजाए स्थायी लेक्चरर्स होंगे. उच्च शिक्षण संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग का लाभ भी मिलेगा. जावड़ेकर ने कहा कि कॉलेजों को ऑटोनॉमी देने पर या स्वायत्ता के कारण केंद्रीय शिक्षण संस्थानों को दी जाने वाली अनुदान राशि में किसी तरह की कटौती नहीं होगी. यह भी कहा कि शिक्षकों की पदोन्नति को लेकर स्कीम में संशोधन कर लेक्चरर्स को राहत दी जाएगी. 

ये भी पढ़ें: कॉलेज शिक्षकों के प्रमोशन के लिए अब रिसर्च वर्क जरूरी नहीं


विश्व स्तर के 20 अनुसंधान संस्थान जल्द बनेंगे : पिछले दिनों प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि 20 विश्व स्तरीय अनुसंधान व शिक्षण संस्थानों के लिए दिशा-निर्देश और प्रस्ताव तैयार कर लिए गए हैं और जल्द ही इस पर आगे बढ़ेंगे. लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक प्रश्न के जवाब में जावड़ेकर ने कहा, दिशा-निर्देश तैयार हैं. प्रस्ताव को अंतिम रूप में हैं और मुझे उम्मीद है और निश्चित हूं कि प्रस्तावों को मानसून सत्र में अंतिम मंजूरी मिलेगी.

ये भी पढ़ें: 'आईआईएम को स्वायत्तता प्रदान करना वक्त की जरूरत'

तृणमूल कांग्रेस नेता सुगाता बोस सरकार से 20 विश्वस्तरीय अनुसंधान व शिक्षण संस्थानों की स्थापना के बारे में जानकारी मांगी थी. यह संस्थान अनुसंधान व नवाचार के लिए देशभर में स्थापित होंगे. इनकी घोषणा बीते साल की गई थी.

जावड़ेकर ने यह भी कहा कि ये संस्थान वास्तवित तौर पर अनुसंधान और नवाचार के लिए मार्ग प्रशस्त करेंगे.

वीडियो: दसवीं की बोर्ड परीक्षा 2017-18 से फिर शुरू होगी : प्रकाश जावड़ेकर

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि जिस तरह से दुनिया की वृद्धि हुई है. हमें बढ़ने की जरूरत है. आज हमारे पास विविधता में सीखने की अवधारणा है. कई देशों के छात्र साथ मिलकर सीखेंगे और साथ अनुसंधान करेंगे.

इनपुट: IANS


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement