शिवसेना नेता संजय राउत को दुष्यंत चौटाला का जवाब- 'ऐसे बयानों से आपका कद नहीं बढ़ता'

संजय राउत जी को ये तो पता है कि दुष्यंत चौटाला कौन है? मेरे पिताजी आज से जेल में नहीं है. पिछले 6 साल से हैं. संजय राउत जी ने कभी उनका हालचाल नहीं पूछा और ना ही अजय सिंह चौटाला अपनी सजा पूरा करने से पहले बाहर आएंगे.

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच चल रही है बयानबाजी अब हरियाणा तक पहुंच गई है. दअअसल आज सुबह शिवसेना के संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा था कि 'यहां कोई दुष्यंत (Dushyant Chautala) नहीं हैं, जिनके पिता जेल में हों. यहां हम हैं, जो 'धर्म और सत्य' की राजनीति करते हैं. शरद जी जिन्होंने बीजेपी और कांग्रेस के खिलाफ माहौल बनाया है जो कभी बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे.' उनका यह बयान हरियाणा में जेजेपी नेता और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) को नागवार गुजरा है. बता दें कि विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही सरकार गठन को लेकर राज्‍य में बीजेपी और उसकी सहयोगी शिवसेना के बीच खींचतान जारी है.

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मेरे पिता दुष्यंत चौटाला 6 साल से जेल में हैं. संजय राउत ने कभी उनका हाल चाल नहीं पूछा. संजय राउत जी को ये तो पता है कि दुष्यंत चौटाला कौन है? मेरे पिताजी आज से जेल में नहीं है. ना ही अजय सिंह चौटाला अपनी सजा पूरा करने से पहले बाहर आएंगे

BJP सांसद का दावा: शिवसेना के 45 नवनिर्वाचित MLA फडणवीस के संपर्क में, चाहते हैं गठबंधन की बने सरकार

दुष्यंत ने आगे कहा,  'एक पिता के लिए खुशी की बात होती है और त्योहार का दिन भी था और खुशी भी थी. मैं संजय जी को कहूंगा इस तरह के बयान से उनका कोई कद नहीं बढ़ता है. उनकी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के साथ बहुत लंबे समय से रही है. हमारी पार्टी का गठन 11 महीने पहले हुआ है और 11 महीने में हमने बारी-बारी से धोखा देकर, किसी से लड़ाई लड़ कर आगे पीछे हटकर, डरा धमका कर आगे बढ़ने की मंशा नहीं रखी. ईमानदार राजनीति के तहत जैसे 11 महीने में हमने काम किया है वैसे ही आगामी 5 साल प्रदेश के हित में काम करेंगे. जो भी महाराष्ट्र का निर्णय होगा वह भारतीय जनता पार्टी का अंदरूनी मामला होगा.

क्या महाराष्ट्र में BJP-शिवसेना की सरकार नहीं बनेगी? 24 घंटे में हुईं ये 10 बड़ी बातें

दिल्ली में चुनाव लड़ने के सवाल पर दुष्यंत ने कहा कि अभी यह फैसला करना बहुत ही जल्दबाजी होगी दिल्ली विधानसभा के चुनाव को लेकर दिल्ली प्रदेश इकाई के साथ बैठक करके फिर इसके बाद फैसला लेंगे. दुष्यंत ने कहा, 'हमारी प्राथमिकता यह रहेगी कि हरियाणा प्रदेश में 75 फ़ीसदी हिस्सेदारी युवाओं को हो मैं एक युवा हूं और मेरी जिम्मेदारी बनती है कि युवाओं के हक की लड़ाई लड़ूं'. 

Newsbeep

'महाराष्ट्र में सरकार बनने में देरी क्यों?' इस सवाल पर बोले शिवसेना सांसद- यहां कोई दुष्यंत नहीं हैं, जिनके पिता जेल में हो

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: हमने 50-50 का वादा कभी नहीं किया: फडणवीस