NDTV Khabar

डूसू चुनाव : अध्यक्ष सहित तीन प्रमुख पदों पर एबीवीपी का कब्जा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने चार में से तीन पदों पर जीत हासिल की है। चुनाव परिणाम शनिवार को घोषित किए गए।
नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने चार में से तीन पदों पर जीत हासिल की है। चुनाव परिणाम शनिवार को घोषित किए गए।

एबीवीपी ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद पर कब्जा कर लिया जबकि भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) सिर्फ सचिव पद हासिल कर पाया।

एबीवीपी के उम्मीदवार अमन अवाना अध्यक्ष निर्वाचित हुए, जबकि उत्कर्ष चौधरी ने उपाध्यक्ष और राजू रावत ने संयुक्त सचिव पद पर जीत दर्ज की। एनएसयूआई की करिश्मा ठाकुर सचिव चुनी गईं।

एबीवीपी के सभी प्रत्याशियों ने अपनी जीत को गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का करिश्मा बताया। मोदी को शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 2014 के आम चुनाव के लिए पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित किया है।

प्रत्याशियों ने कहा कि उन लोगों ने अपने प्रचार में लाभ लेने के लिए 'मोदी फैक्टर' का इस्तेमाल किया। नवनिर्वाचित अध्यक्ष अमन अवाना ने कहा, "बदलाव की अब शुरुआत हो चुकी है, क्योंकि एबीवीपी ने विश्वविद्यालय पर कब्जा कर लिया है। मोदी युवाओं के आदर्श हैं और हमने उनका अपने प्रचार में इस्तेमाल किया और हमें इसका लाभ मिला।" अवाना को 17,879 मत मिले। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एनएसयूआई प्रत्याशी विशाल चौधरी को 1,551 मतों से पराजित किया।

विश्वविद्यालय के लिए काम करने का वादा करते हुए डूसू के नए उपाध्यक्ष उत्कर्ष चौधरी ने कहा, "हम परिसर को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने के लिए काम करेंगे, क्योंकि हमने छात्र हितों को ताक पर रखने वाले बदमाशों से विश्वविद्यालय को झटक लिया है।" चौधरी को 14,968 मत मिले। उन्होंने एनएसयूआई प्रत्याशी कपिल शर्मा को 3,691 मतों से पराजित किया। रावत ने 15,643 मत हासिल कर एनएसयूआई के कुशान खत्री को 3,288 मतों से पराजित किया।

एनएसयूआई की नूतन ठाकुर को 14,662 मत मिले और उन्होंने एबीवीपी के अंशू लकड़ा को 2,781 मतों से पराजित किया।

एनएसयूआई ने एबीवीपी पर स्वच्छ आचरण नहीं अपनाने का आरोप लगाया है। एनएसयूआई के प्रवक्ता अमरीश रंजन ने कहा, "हमें अपने विरोधियों की रणनीति को समझना चाहिए था। हम अपने विरोधियों के मुकाबले स्वच्छ तरीके से चुनाव लड़ रहे थे।"

एबीवीपी के विजयी प्रत्याशियों को बधाई देते हुए भाजपा की प्रवक्ता ने निर्मला सीतारमन ने ट्वीट किया है, "डूसू में बहुत अच्छा किया एबीवीपी। बधाई।"

आरएसएस के मीडिया एवं जन संपर्क प्रबंधक राम माधव ने भी ट्वीट किया है, "डूसू चुनाव में जीत के लिए एबीवीपी को दिल से बधाई।"

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष विजय गोयल ने विजेताओं से मुलाकात कर बधाई दी और ट्वीट किया है, "डूसू के चुनाव में एबीवीपी प्रत्याशियों की जीत के लिए बधाई। मैं इन युवकों में भविष्य का नेता की कल्पना करता हूं।"

विजेताओं के समर्थकों ने परिणाम घोषित होने के बाद उत्सव मनाया और पटाखे चलाकर अपनी खुशी का इजहार किया। पराजित प्रत्याशी चुपचाप वहां से चले गए।

टिप्पणियां
मतदान की तरह ही मतगणना के दिन दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की थी। विश्वविद्यालय के सभी कालेजों में मतदान हुआ। इस चुनाव में 51,000 मतदाता थे।

डूसू चुनाव में मुख्य मुकाबला एनएसयूआई और एबीवीपी के बीच था। हालांकि ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आईसा) ने भी कुछ उम्मीदवार खड़े किए थे।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement