NDTV Khabar

भूकंप की वजह से बिहार में 15 की मौत, यूपी में भी गई दो की जान

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भूकंप की वजह से बिहार में 15 की मौत, यूपी में भी गई दो की जान

भूकंप के झटके के बाद मची अफरातफरी

पटना: बिहार में बीती 25 अप्रैल को आए भूकंप से हुए जान-माल के नुकसान को लोग अभी भुला भी नहीं पाए थे कि मंगलवार दोपहर प्रदेश की राजधानी पटना सहित राज्य के दूसरे हिस्सों में आए भूकंप के झटकों ने लोगों को फिर से दहला दिया। इस भूकंप से बिहार में अब तक 15 लोगों की मौत हो गई और 74 अन्य लोगों के घायल होने की खबर है। वहीं पड़ोस के उत्तर प्रदेश में कम से कम दो लोगों के मारे जाने की खबर है।

आपदा प्रबंधन विभाग के कंट्रोल रूम से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार में आए भूकंप से 15 लोगों की मौत और 74 अन्य घायल हो गए हैं।

आपदा प्रबंधन विभाग के नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के मुताबिक पटना और पूर्वी चंपारण जिलों में भूकंप के कारण तीन-तीन, दरभंगा एवं पूर्णिया जिलों में दो-दो तथा सिवान, सारण, वैशाली, खगडिया एवं सीतामढी में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई है।

बिहार में आए भूकंप के सात झटकों (रिक्टर पैमाने पर 7.3 एवं 6.2 तथा पांच अन्य मध्यम तीव्रता वाले) के बाद पटना में पुराना सचिवालय स्थित अपने कक्ष में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इस ताज़ा भूकंप में जान-माल की क्षति के बारे में एक-एक गांव से सूचना इकट्ठा करने और प्रभावितों को जल्द राहत पहुंचाने के लिए उन्होंने फील्ड ऑफिसर्स को निर्देश दिए हैं।

उन्होंने बताया कि आज आए भूकंप में मरने वालों के आश्रितों को पहले की तरह अनुग्रह अनुदान के लिए चार लाख रुपये दिए जाएंगे।

भूकंप के बाद झटके आने की आशंका के मद्देनजर रात बिताने के लिए लोग पटना के गांधी मैदान, इको पार्क और दूसरे पार्कों में जमा हो गए हैं।

टिप्पणियां
मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रशासन की ओर से लोगों के लिए पटना के गांधी मैदान में कार्पेट सहित पीने का पानी और रौशनी की व्यवस्था की गई है। नीतीश ने पिछली बार की तरह इस बार भी लोगों का हौसला बढ़ाने और उन्हें यह विश्वास दिलाने कि पूरा सरकारी महकमा इस आपदा की घड़ी में उनके साथ है। मंगलवार देर शाम उन्होंने गांधी मैदान और अन्य पार्कों का दौरा भी किया।

गौरतलब है कि बीती 25 अप्रैल को आए 7.9 तीव्रता वाले भूकंप के कारण बिहार में 58 लोगों की मौत हो गई थी।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement