मनी लांड्रिंग केस में ED ने बिनीश कोडियेरी के निवास और केरल में अन्‍य ठिकानों पर मारा छापा: रिपोर्ट

जांच एजेंसी ने बिनीश को एक मनी लांड्रिंग मामले में 29 अक्‍टूबर को बिनीश को अरेस्‍ट किया था. यह मामला कर्नाटक में ड्रग की बरामदगी से जुड़ा था.

मनी लांड्रिंग केस में ED ने बिनीश कोडियेरी के निवास और केरल में अन्‍य ठिकानों पर मारा छापा: रिपोर्ट

बिनीश को मनी लांड्रिंग मामले में 29 अक्‍टूबर को बिनीश को अरेस्‍ट किया था

खास बातें

  • स्‍पेशल कोर्ट ने सोमवार को बिनीश की हिरासत 5 दिन बढ़ाई
  • मनी लांड्रिंग केस में 29 अक्‍टूबर को उसे अरेस्‍ट किया गया था
  • मामला कर्नाटक में ड्रग की बरामदगी से जुड़ा हुआ है
तिरुवनंतपुरम :

केरल के CPI(M) नेता कोडियेरी बालकृष्‍णन (Kodiyeri Balakrishnan)के बेटे बिनीश (Bineesh Kodiyeri) के खिलाफ मनी लांड्रिंग केस की जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने आज उनके घर और शहर व केरल में स्थित विभिन्‍न स्‍थानों की तलाशी ली. सूत्रों ने न्‍यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि बेंगलुरू से आई ED टीम ने बिनीश के घर के अलावा शहर और उत्‍तरी केरल में में स्थित विभिन्‍न ठिकानों की तलाशी ली. बेंगलुरू के एक स्‍पेशल कोर्ट ने सोमवार को बिनीश कोडियेरी की ईडी को हिरासत पांच दिन और बढ़ाने का आदेश दिया है. प्रवर्तन निदेशालय ने बिनीश को मनी लांड्रिंग मामले में कोर्ट में पेश किया था, जिसने उसे चार दिन की हिरासत में भेजने का निर्देश दिया था.

CPI(M) नेता के बेटे ने ड्रग तस्कर को ट्रांसफर की थी मोटी रकम, गिरफ्तारी के बाद ED का खुलासा

जांच एजेंसी ने बिनीश को एक मनी लांड्रिंग मामले में 29 अक्‍टूबर को बिनीश को अरेस्‍ट किया था. यह मामला कर्नाटक में ड्रग की बरामदगी से जुड़ा था. रविवार की रात को बिनीश ने पीठ में दर्द की शिकायत की थी जिसके बाद उसे चैकअप के लिए शहर के बाउरिंग अस्‍पताल ले जाया गया था. जांच एजेंसी ने आरोप लगाया कि इस मामले में "ड्रग तस्कर", मोहम्मद अनूप, बिनेश का "बेनामीदार" था. बेनामीदार वह व्यक्ति होता है, जिसके नाम पर बेनामी प्रॉपर्टी खरीदी जाती है या ट्रांसफर की जाती है. वह व्यक्ति संपत्ति का असली मालिक जो लाभकारी होता है, के इशारे पर काम करता है. ईडी ने अनूप को पहले ही 17 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था.

प्रवर्तन निदेशालय की जांच नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की जांच में सामने आए तथ्यों के बाद की गई है. एनसीबी ने अनूप और दो अन्य तस्कर की गिरफ्तारी के साथ ही अगस्त में कर्नाटक में एक एक्स्टसी पिल्स ड्रग ट्रैफिकिंग रैकेट का भंडाफोड़ किया था. ईडी ने बताया कि अनूप ने कस्टडी के दौरान हुई पूछताछ में यह बात कबूल की कि वह डग्स की तस्करी करता था और बिनीश  का नजदीकी था. जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि अनूप के कई बैंक अकाउंट हैं, जिसके जरिए वह अवैध पैसों का लेनदेन करता था.


कांग्रेस नेता डीके शिव कुमार के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार के मामले में CBI की छापेमारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)