सुशांत सिंह राजपूत मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किया

सुशांत सिंह राजपूत मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किया है.

सुशांत सिंह राजपूत मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किया

सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

प्रवर्तन निदेशालय ने बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में 15 करोड़ रुपये के "संदिग्ध लेनदेन" पर धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया है. जांच एजेंसी द्वारा बिहार पुलिस द्वारा दर्ज FIR का संज्ञान लेने के बाद मामला दर्ज किया गया. अभिनेता के बैंक खाते से  ट्रांसफर किए गए पैसों का उपयोग कैसे किया गया इसकी जांच की जा रही है. 

बिहार की एक पुलिस टीम पिछले तीन दिनों से मुंबई में डेरा डाले हुए है, कई बैंकों का दौरा कर रही है और सुशांत द्वारा रिया चक्रवर्ती और उसके भाई के साथ स्थापित दो कंपनियों के लेनदेन और निवेश की पूछताछ कर रही है.

सुशांत के पिता की शिकायत पर रिया चक्रवर्ती द्वारा सुशांत के बैंक खाते से अवैध रूप से धन हस्तांतरित करने और मानसिक रूप से उसे परेशान करने का आरोप लगाया गया है. आज सुबह बिहार पुलिस ने जोर देकर कहा कि वे मामले में मनी ट्रेल का पालन करेंगे. हालांकि, मुंबई पुलिस के सूत्रों ने NDTV को बताया कि सुशांत के परिवार ने किसी पर शक या आरोपों का कोई जिक्र नहीं किया था. सूत्रों ने कहा कि परिवार ने लिखित बयानों में भी कोई आरोप नहीं लगाया है.

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बिहार पुलिस से अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सिलसिले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी की प्रति मांगी. अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि मामले में मनी लॉन्डरिंग की जांच करने के लिए प्राथमिकी की प्रति मांगी गयी.

अधिकारियों ने कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसी ने इस संदर्भ में बिहार पुलिस को पत्र लिखा है. ईडी धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत संभावित जांच के लिए मामले को देख रही है. सुशांत के पिता कृष्ण कुमार सिंह (74) ने अपने बेटे को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों में रिया चक्रवती, उनके परिवार के सदस्यों और छह अन्य लोगों के खिलाफ मंगलवार को प्राथमिकी दर्ज कराई.

यह भी पढ़ें: सुशांत केस : पटना पुलिस का 'जेम्स बॉन्ड' स्टाइल - कभी BMW-जगुआर, कभी बाइक-ऑटो से कर रही तहकीकात

सिंह का आरोप है कि रिया ने अपने करियर को बढ़ाने के मकसद से मई 2019 में उनके बेटे के साथ दोस्ती बढ़ाई थी.
अधिकारियों के मुताबिक ईडी राजपूत के धन और उनके बैंक खातों के कथित दुरुपयोग के आरोपों की जांच करना चाहती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एजेंसी इस बात की भी जांच करेगी कि क्या किसी ने राजपूत के पैसों का इस्तेमाल काले धन को सफेद में बदलने में किया और अवैध संपत्तियां बनाईं. ईडी आरोपियों की संपत्ति कुर्क कर सकती है और उसके पास पीएमएलए के तहत आरोपियों को गिरफ्तार करने का भी अधिकार है. सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुंबई पुलिस पहले ही जांच कर रही है. 

सुशांत केस : पटना पुलिस का 'जेम्स बॉन्ड' स्टाइल