NDTV Khabar

ED ने भगोड़े नीरव और उसके मामा की 218 करोड़ की संपत्ति की जब्त, ट्रंप टॉवर में भी खरीदा था फ्लैट

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को कहा कि उसने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी(Nirav Modi) और उसके मामा मेहुल चोकसी  (Mehul Choksi) से जुड़ी 218 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ED ने भगोड़े नीरव और उसके मामा की 218 करोड़ की संपत्ति  की जब्त, ट्रंप टॉवर में भी खरीदा था फ्लैट

भगोड़े नीरव और उसके मामा मेहुल चौकसी के खिलाफ ईडी की कार्रवाई जारी है.

नई दिल्ली:

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को कहा कि उसने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी(Nirav Modi) और उसके मामा मेहुल चोकसी  (Mehul Choksi) से जुड़ी 218 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है. मोदी और चोकसी सरकारी पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रुपये के घोटाले के आरोपी है और देश से फरार हो चुके हैं.एजेसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "विदेश में चोकसी का एक विला जब्त किया गया है, जिसकी कीमत 27 करोड़ रुपये है." इसके अलावा ईडी ने हैदराबाद में एक संपत्ति जब्त की है, जिसकी कीमत 120 करोड़ रुपये है और यह ए. पी. ग्रीन एंड ज्वैलरी पार्क से जुड़ी है."

अधिकारी ने कहा कि खुफिया जानकारी के आधार पर नीरव मोदी से जुड़े फायरस्टार समूह से संबंधित हीरे जब्त किए गए हैं, जिसकी बाजार में कीमत 18.76 करोड़ रुपये है. एजेंसी ने चोकसी की बेटी के नाम पर मुंबई के ट्रंप टॉवर में एक फ्लैट जब्त किया है, जिसकी कीमत 1.70 करोड़ रुपये है. एजेंसी ने बताया कि उसने विदेश में मोदी के करीबी सहयोगी मिहिर भंसाली का 51 करोड़ रुपये कीमत का फ्लैट जब्त किया है. वित्तीय जांच संस्था अब तक पीएनबी घोटाले में कुल 4,488 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुकी है.


यह भी पढ़ें-नीरव मोदी की बहन भी निकली शातिर, मोटा पैसा लेकर भाई का काला धन कराया सफेद

सफाई दे चुका है मेहुल चौकसी
PNB घोटाले का आरोपी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) बीते दिनों एक वीडियो जारी कर पूरे मामले पर अपनी सफाई दे चुका है. एंटीगुआ से जारी एक वीडियो में मेहुल चोकसी ने दावा किया है कि प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा उस पर लगाए गए सभी आरोप झूठे और आधारहीन हैं. चोकसी ने कहा कि ईडी ने अवैध तरीके से उसकी संपत्तियां जब्त की हैं और इसके लिए कोई आधार नहीं है. उसने पासपोर्ट रद्द किये जाने के मुद्दे पर भी अपनी सफाई दी है. मेहुल चोकसी ने कहा कि मेरा पासपोर्ट क्यों रद्द किया गया, इसके बारे में पासपोर्ट कार्यालय से मुझे कोई जानकारी नहीं मिली है. न ही मुझे इस बात की जानकारी है कि मैं खतरा क्यों हूं. 
 
यह भी पढ़ें- 
PNB घोटाला: इलाहाबाद बैंक की MD उषा अनंत को कार्यकाल के अंतिम दिन किया बर्ख़ास्त

आपको बता दें कि पिछले दिनों खबर आई थी कि चोकसी के प्रत्यर्पण के लिए एंटीगुआ के अधिकारियों से मिलने के लिये विदेश मंत्रालय और अन्य एजेंसियों से एक भारतीय टीम वहां भेजी गई है. चोकसी भारत में दो अरब डॉलर के पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी कांड में वांछित है. एक आधिकारिक सूत्र ने बताया था कि, ‘टीम ने कैरीबियाई देश के विदेश मंत्रालय अधिकारियों से कल मुलाकात की और चोकसी को भारत प्रत्यर्पित कराने के लिए एक अनुरोध पत्र सौंपा था.’ टीम ने चोकसी के खिलाफ मामले का ब्यौरा भी पेश किया. खबरों के अनुसार, चोकसी के नागरिकता आवेदन को रोकने के संबंध में भारत द्वारा प्रतिकूल रिपोर्ट नहीं दिए जाने पर एंटीगुआ के अधिकारियों ने नवंबर 2017 में उसे वहां की नागरिकता दे दी थी. चोकसी इस साल चार जनवरी को भारत से भाग गया था और उसने 15 जनवरी को एंटीगुआ में निष्ठा की शपथ ली थी.  ( इनपुट-IANS से)

टिप्पणियां

वीडियो-न्यूज टाइम इंडिया: PNB घोटाले पर चौकसी की सफाई 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement