जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर यातायात बहाल करने के प्रयास जारी, बर्फबारी के आसार

राष्ट्रीय राजमार्ग रामबन के यातायात पुलिस उपाधीक्षक (DSP) सुरेश शर्मा ने बताया कि सड़क से मलबा हटाने वाली एजेंसियों के निरंतर प्रयासों के बावजूद सोमवार को राजमार्ग को यातायात के लिए खोलना शायद संभव नहीं होगा.

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर यातायात बहाल करने के प्रयास जारी, बर्फबारी के आसार

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • राजमार्ग पर भूस्खलन का मलबा साफ करने के लिए सोमवार को भी प्रयास जारी रहा
  • इस सप्ताह के आखिर में बर्फबारी और बारिश का पूर्वानुमान
  • मंगलवार तक राजमार्ग को यातायात के लिए खोलना शायद संभव नहीं होगा
बनिहाल/ जम्मू:

रामबन जिले में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भूस्खलन का मलबा साफ करने के लिए सोमवार को भी प्रयास जारी रहा. हालांकि मौसम विभाग ने इस सप्ताह के आखिर में बर्फबारी और बारिश का पूर्वानुमान व्यक्त किया है. अधिकारियों ने बताया कि रविवार दोपहर डिगडोले में राजमार्ग पर भूस्खलन के कारण सड़क के 150 मीटर हिस्से में मलबा फैल गया. इस कारण हजारों लोग राजमार्ग पर फंस गए. वहीं राष्ट्रीय राजमार्ग रामबन के यातायात पुलिस उपाधीक्षक (DSP) सुरेश शर्मा ने बताया कि सड़क से मलबा हटाने वाली एजेंसियों के निरंतर प्रयासों के बावजूद मंगलवार तक राजमार्ग को यातायात के लिए खोलना शायद संभव नहीं होगा. उन्होंने कहा कि मलबा साफ करने का काम जारी है और जल्द से जल्द यातायात बहाल करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

कश्मीर के बांदीपुरा में आतंकवादियों और सुरक्षा कर्मियों में मुठभेड़, एक आतंकवादी ढेर

उन्होंने कहा, ‘जबरदस्त भूस्खलन हुआ और जहां पर मलबा गिरा वह क्षेत्र बहुत संकरा है. इस कारण से कुछ ही मशीनें वहां काम कर रही हैं.' शर्मा ने कहा कि मलबा साफ किए जाने के बाद यातायात की अनुमति देने के पहले सड़क की स्थिति और बगल की दीवार वगैरह का जायजा लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि राजमार्ग के दोनों तरफ 2500 से ज्यादा हल्के वाहन और ट्रक फंसे हुए हैं और यातायात सुगम करने के लिए सबसे पहले इन वाहनों को आवाजाही की अनुमति दी जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बहाल, भूस्खलन के चलते हो गया था बंद

बता दें, कश्मीर के अधिकतर हिस्से और जम्मू क्षेत्र के ऊंचाई वाले हिस्से में मौसम की पहली बर्फबारी के बाद राज्य को देश के बाकी हिस्से से जोड़ने वाले इस राजमार्ग को बृहस्पतिवार को बंद कर दिया गया था. राजमार्ग को यातायात के लिए शनिवार को खोला गया था, लेकिन रामबन सेक्टर में भारी बारिश के कारण कई जगहों पर भूस्खलन के बाद गाड़ियों की आवाजाही बाधित हो गई. उन्होंने बताया कि जम्मू क्षेत्र में सीमाई जिलों- पुंछ और राजौरी को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से जोड़ने वाली मुगल रोड लगातार छठे दिन सोमवार को बंद रही. वहीं पीर की गली इलाके में भारी बर्फबारी के बाद सड़क को यातायात के लिए बंद किया गया था. बहरहाल मौसम विभाग ने 14-16 नवंबर के बीच जम्मू कश्मीर के अधिकतर हिस्से और केंद्र शासित क्षेत्र लद्दाख के करगिल में हल्की से मध्यम बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)