NDTV Khabar

झारखंड : गाय के शव को लेकर भीड़ ने बुज़ुर्ग को बुरी तरह पीटा, घर में आग लगा दी

उस्मान अंसारी इस वक्त धनबाद में अस्पताल में दाखिल हैं, और उनकी जान इसलिए बच पाई, क्योंकि पुलिस जल्द ही घटनास्थल पर पहुंच गई, और उन्होंने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवा में गोलियां चलाईं.

13782 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड : गाय के शव को लेकर भीड़ ने बुज़ुर्ग को बुरी तरह पीटा, घर में आग लगा दी

भीड़ ने उस्मान अंसारी को बुरी तरह पीटा, क्योंकि उसके घर के बाहर कथित रूप से एक मरी हुई गाय पड़ी मिली थी...

खास बातें

  1. पिटाई और आगजनी की वारदात रांची से 200 किलोमीटर दूर एक गांव में हुई
  2. बुज़ुर्ग उस्मान अंसारी के घर के बाहर कथित रूप से मरी हुई गाय पड़ी मिली थी
  3. पुलिस के वक्त पर पहुंच जाने की वजह से उस्मान अंसारी की जान बच पाई
रांची: झारखंड की राजधानी रांची से लगभग 200 किलोमीटर दूर एक गांव में भीड़ ने एक बुज़ुर्ग को बुरी तरह पीटा, क्योंकि उसके घर के बाहर कथित रूप से एक मरी हुई गाय पड़ी मिली थी. यही नहीं, भीड़ ने उस्मान अंसारी के घर को आग भी लगा दी. उस्मान अंसारी इस वक्त धनबाद में अस्पताल में दाखिल हैं, और उनकी जान इसलिए बच पाई, क्योंकि पुलिस जल्द ही घटनास्थल पर पहुंच गई, और उन्होंने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवा में गोलियां चलाईं.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आरके मलिक ने कहा, "हमारे लोगों ने भीड़ का सामना किया, और तुरंत उस्मान अंसारी और उनके परिवार को बचाया... जब पुलिस ने उन्हें अस्पताल ले जाने की कोशिश की, भीड़ ने उसका विरोध किया... हम पर भारी पथराव किया गया, सो, हमें हवा में गोलियां चलानी पड़ीं..."

----- ----- वीडियो रिपोर्ट ----- -----
----- ----- ----- ----- ----- -----


पुलिस की गोलीबारी में भी दो लोग ज़ख्मी हुए हैं, और दोनों के पांवों का इलाज अस्पताल में चल रहा है. पथराव के दौरान 50 पुलिसकर्मी भी घायल हुए बताए गए हैं. गांव में सुरक्षा के भारी इंतज़ाम किए गए हैं, और कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया है. उस्मान अंसारी पर हमले के लिए फिलहाल किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है, लेकिन पुलिस का कहना है कि वे बुधवार को ही गांव में लगभग 15 लोगों से पूछताछ करेंगे.

गोरक्षा के नाम पर बढ़ती जा रही हिंसक घटनाओं को लेकर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने हाल ही में कहा था कि सरकार 'इस मुद्दे को लेकर पूरी तरह स्पष्ट है कि यदि कोई हिंसा करता है, तो कानून अपना काम ज़रूर करेगा...' रविशंकर प्रसाद उस समय जुनैद नामक एक किशोर की गोमांस ले जाने के शक में चलती ट्रेन में भीड़ द्वारा हत्या कर दिए जाने के मामले पर बात कर रहे थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement