Election Results 2020: किसे मिलेगी दिल्ली की सत्ता? आज आएंगे विधानसभा चुनाव के नतीजे, 10 बड़ी बातें

मतदान पश्चात आए सभी एक्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को दोबारा दिल्ली की सत्ता मिलने की संभावना जताई गई, बीजेपी ने भी किया जीत का दावा

Election Results 2020: किसे मिलेगी दिल्ली की सत्ता? आज आएंगे विधानसभा चुनाव के नतीजे, 10 बड़ी बातें

Delhi Election Results 2020: दिल्ली में विधानसभा चुनाव की मतगणना मंगलवार को होगी (प्रतीकात्मक फोटो).

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आज घोषित किए जाएंगे. मतगणना सुबह आठ बजे शुरू होगी. चुनाव परिणाम दोपहर तक आने की संभावना है. दिल्ली में कुल 70 विधानसभा सीटें हैं. इस चुनाव में कुल 672 उम्मीदवार मैदान में हैं जिनके भाग्य का फैसला आज सामने आ जाएगा. चुनाव में मुख्य मुकाबला आम आदमी पार्टी (AAP), भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस (Congress) के बीच हुआ है. मतदान पश्चात आए सभी एक्जिट पोल में आम आदमी पार्टी (आप) को दोबारा दिल्ली की सत्ता मिलने की संभावना जताई गई है.

आज आएंगे विधानसभा चुनाव के नतीजे, 10 बड़ी बातें

  1. दिल्ली में विधानसभा चुनाव के मतों की गिनती के लिए मतगणना केंद्रों की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है. एक्जिट पोल्स में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP) की जीत का अनुमान व्यक्त करने और चुनाव आयोग द्वारा मतदान प्रतिशत की घोषणा में देरी विधानसभा चुनाव के नतीजे को लेकर लोगों के बीच जिज्ञासा बहुत बढ़ गई है.

  2. दिल्ली में मतदान आठ फरवरी को हुआ था. इसे 'आप' और भाजपा के मुकाबले के रूप में देखा गया. इस चुनाव में 593 पुरुष उम्मीदवारों और 79 महिला प्रत्याशियों ने अपना राजनीतिक भाग्य आजमाया है.

  3. दिल्ली विधानसभा चुनाव में कुल 62.59 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. वर्ष 2015 में विधानसभा चुनाव में 67.47 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था. पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले इस बार करीब पांच प्रतिशत कम मतदान हुआ है. सबसे अधिक मतदान बल्लीमारान सीट पर 71.6 प्रतिशत हुआ. सबसे कम मतदान दिल्ली छावनी में हुआ, जहां पर 45.4 प्रतिशत मतदाता ही मतदान केंद्रों तक पहुंचे.

  4. मतदान के करीब 24 घंटे बाद चुनाव आयोग ने अंतिम मतदान प्रतिशत की घोषणा की. मतदान के आंकड़े आने में देरी पर चुनाव आयोग ने कहा कि उसने आंकड़े संकलन की निर्धारित प्रक्रिया का पालन किया. 'आप' ने देरी को लेकर सवाल उठाए हैं.

  5. मतगणना पूर्वी दिल्ली में सीडब्ल्यूजी स्पोर्ट्स कांप्लेक्स, पश्चिम दिल्ली में एनएसआईटी, दक्षिण-पूर्वी दिल्ली में मीराबाई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी और जीबी पंत इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी, मध्य दिल्ली में सर सीवी रमण आईटीआई, धीरपुर, उत्तरी दिल्ली में बवाना के राजीव गांधी स्टेडियम एवं अन्य स्थानों पर होगी. मतगणना के लिए 33 पर्यवेक्षक होंगे. सुरक्षाकर्मियों ने स्ट्रांग रूमों की कड़ी निगरानी की जहां इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें रखी गई हैं.

  6. दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने मतदान से एक दिन पहले कहा था कि सभी ईवीएम का परीक्षण किया गया है और वे फूलप्रूफ, छेड़छाड़ से परे हैं. इसके विपरीत मतदान के बाद आम आदमी पार्टी की ओर से ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका जताई गई. 'आप' की आशंकाओं को चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया है.

  7. एक्जिट पोलों में 'आप' की आसान जीत का अनुमान लगाया गया है जो विकास के मुद्दे पर चुनाव में उतरी थी. उसकी प्रतिद्वंद्वी भाजपा ने अपना प्रचार सीएए विरोध प्रदर्शन और राष्ट्रवाद के इर्द-गिर्द समेट रखा था. बाईस साल बाद सत्ता में पहुंचने के लिए आतुर भाजपा ने दिल्ली में आक्रामक प्रचार अभियान चलाया और स्वयं केंद्रीय गृह मंत्री ने हिंदुत्व और राष्ट्रवाद के मुद्दे पर अपनी पार्टी के प्रचार की अगुवाई की.

  8. सभी एक्जिट पोल में केजरीवाल सरकार की सत्ता में वापसी की भविष्यवाणी की गई है, मगर भाजपा नेता इन्हें नकार रहे हैं. उनका दावा है कि जब ईवीएम खुलेगी तो सारे एक्जिट पोल फेल हो जाएंगे और भाजपा सबको चौंकाते हुए बहुमत से भी ज्यादा सीटें हासिल करेगी. मतदान के दिन आखिरी घंटों में अचानक बढ़े वोट प्रतिशत बढ़ने को भाजपा अपने लिए शुभ संकेत मान रही है.

  9. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने 2017 में पंजाब चुनाव के एक एग्जिट पोल का हवाला देते हुए दिल्ली के एग्जिट पोल के भी गलत साबित होने की बात कही है. तिवारी ने कहा है कि सभी एग्जिट पोल फेल होंगे, 48 सीटें लेकर भाजपा सरकार बनाएगी. सांसद प्रवेश वर्मा ने भाजपा के 50 सीटें जीतने का दावा किया है. उन्होंने आम आदमी पार्टी के सिर्फ 16 और कांग्रेस के महज चार सीटें जीतने की बात कही है.

  10. आम आदमी पार्टी ने जीत का जश्न मनाने की तैयारी कर ली है. परिणाम आने से पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को जीत का जश्न मनाने के दौरान पटाखे न जलाने की नसीहत दी है. केजरीवाल ने कार्यकर्ताओं से कहा है कि पटाखे जलाने से प्रदूषण होता है. आईटीओ पर स्थित पार्टी मुख्यालय में जश्न मनाने के लिए मिठाइयां और नमकीन मंगाए गए हैं.