चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का इस बात को लेकर नीतीश कुमार पर फूटा गुस्सा, ट्वीट कर कहा- 'आपको शर्म आनी चाहिए'

प्रशांत किशोर ने कहा कि लॉकडाउन से लक्ष्य हासिल होगा कि नहीं यह तो पता नहीं पर इससे लोगों की जिंदगी और रोजरोटी जरूर बर्बाद हो जाएगी.

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का इस बात को लेकर नीतीश कुमार पर फूटा गुस्सा, ट्वीट कर कहा- 'आपको शर्म आनी चाहिए'

प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

नई दिल्ली:

पूरे देश में इस समय लागू लॉकडाउन से लोगों की एक जगह से दूसरी जगह आवाजाही प्रभावित है. केंद्र द्वारा राज्य सरकारों को लॉकडाउन को सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए गए हैं. ऐसे में कुछ लोग अपने घर परिवारों से दूर फंस हुए हैं. देश की राजधानी दिल्ली की बात की जाए तो यहां बड़ी संख्या में बिहार से आया हुआ कामगार तबका लॉकडाउन के चलते न तो मजदूरी हासिल कर पा रहा है और न ही अपने घर लौट पा रहा है. इसी मुद्दे पर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया, 'दिल्ली और अन्य कई जगहों पर बिहार के सैकड़ों गरीब लोग लॉकडाउन  की वजह से फंसे हुए हैं.  नीतीश कुमार जी जब दुनिया भर की सरकारें अपने लोगों की मदद कर रही हैं, बिहार सरकार इन लोगों को इनके घरों तक पहुंचाने अथवा जहां ये लोग हैं वहीं कुछ फ़ौरी राहत की व्यवस्था क्यों नहीं कर रही है?' एक दूसरे ट्वीट में प्रशांत किशोर ने ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा कि नीतीश कुमार को शर्म आनी चाहिए. 

इससे पहले पीएम मोदी के लॉकडाउन फैसले की आलोचना करते हुए किशोर ने ट्वीट किया था कि क्या 21 दिन लॉकडाउन करने का कोई वैज्ञानिक प्रमाण है जिससे कोरोना के खिलाफ जंग जीती जा सके? बिना टेस्टिंग, आइसोलेशन और चिकित्सा के कोरोना को कैसे रोका जा सकेगा. 

प्रशांत किशोर ने कहा कि लॉकडाउन से लक्ष्य हासिल होगा कि नहीं यह तो पता नहीं पर इससे लोगों की जिंदगी और रोजरोटी जरूर बर्बाद हो जाएगी.

पीएम मोदी के  फैसले की आलोचना करते हुए प्रशांत किशोर ने लिखा था कि लॉकडाउन का फैसला सही हो सकता है लेकिन 21 दिन बहुत ज्यादा हैं. कोरोनावायरस से गरीबों को बचाने के लिए कोई ठोस तैयारी नहीं  है. आने वाले दिन बहुत मुश्किल होने वाले हैं.

कोरोनावायरस: पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com