NDTV Khabar

एलफिंस्टन पुल पर भगदड़ : कमेटी ने भारी बारिश को दोषी ठहराया

पैनल ने कुछ और सुझाव भी दिए हैं जिनमें सीढ़ियों वाले क्षेत्र को चौड़ा करने के लिए बुकिंग कार्यालय को कहीं और बनाना, वैकल्पिक सीढ़ियां बनाना आदि शामिल हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एलफिंस्टन पुल पर भगदड़ : कमेटी ने भारी बारिश को दोषी ठहराया

खास बातें

  1. हादसे में 23 लोगों की मौत हुई थी
  2. पैनल ने घटना में घायल हुए लोगों के बयान दर्ज किए थे
  3. भगदड़ की वजह बारिश को बताया
मुंबई में 29 सितंबर को एलफिंस्टन पुल पर हुई भगदड़ की जांच रिपोर्ट में इस त्रासदी की वजह भारी बारिश बताई गई है. उस घटना में 23 लोगों की मौत हो गई थी, अधिकारियों ने आज यह जानकारी दी. पश्चिम रेलवे के मुख्य सुरक्षा अधिकारी की अध्यक्षता वाले पैनल ने आज महाप्रबंधक अनिल कुमार को अपनी रिपोर्ट सौंपी. पैनल ने इस घटना में घायल हुए 30 यात्रियों के बयान दर्ज किए थे. इसके अलावा घटना का वीडियो फुटेज भी जांचा था.

एलफिंस्टन हादसा : फूल बेचने वाले ने लगाई आवाज, 'फूल गिर गया', भीड़ समझी 'पुल गिर गया'

रिपोर्ट के मुताबिक- भगदड़ की वजह भारी बारिश थी. तेज बारिश की वजह से बाहर की ओर टिकट काउंटरों पर खड़े लोग भी बारिश से बचने के लिए सीढ़ियों की ओर भागे जहां पहले से काफी भीड़ थी. इसमें कहा गया कि स्टेशन पर यात्रियों की बढ़ती संख्या से समस्या और बढ़ गई. जिन लोगों के पास भारी-भरकम सामान था, उनका संतुलन बिगड़ गया और संभवत: यही भगदड़ की वजह बनी. रिपोर्ट में कहा गया कि किसी भी प्रत्यक्षदर्शी ने यह नहीं कहा है कि अव्यवस्था पुल पर हुए शॉर्ट सर्किट की वजह से फैली. जांच पैनल ने सुझाव दिया है कि व्यस्त समय में यात्रियों के भारी सामान लेकर आने पर रोक लगाई जाए. इसके अलावा वे लोग जो सामान भरी टोकरियां या डलिया लिए हुए होते हैं उनके भी व्यस्त समय में यहां आने पर रोक लगाई जाए.

मुंबई भगदड़ : राज ठाकरे बोले, आतंकवादियों की जरूरत नहीं, रेलवे ही लोगों को मारने के लिए काफी
पैनल ने कुछ और सुझाव भी दिए हैं जिनमें सीढ़ियों वाले क्षेत्र को चौड़ा करने के लिए बुकिंग कार्यालय को कहीं और बनाना, वैकल्पिक सीढ़ियां बनाना आदि शामिल हैं. इसमें कहा गया कि स्टेशन कर्मियों और सुरक्षा कर्मियों को वायरलैस हैंडसेट उपलब्ध करवाए जाएं ताकि वह समय पर प्रतिक्रिया दे सकें.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement