डोनाल्‍ड ट्रंप के ऑफर पर भारत का जवाब- चीन के साथ सीमा विवाद के शांतिपूर्ण समाधान के लिए बातचीत जारी

भारत-चीन के सीमा विवाद को लेकर अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की ओर से मध्‍यस्‍थता की पेशकश के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मामले में रुख साफ किया है. विदेश मं‍त्रालय ने कहा है कि चीन के साथ सीमा विवाद के शांतिपूर्ण समाधान के लिए बातचीत जारी है.

नई दिल्ली:

भारत-चीन के सीमा विवाद को लेकर अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की ओर से मध्‍यस्‍थता की पेशकश के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मामले में रुख साफ किया है. विदेश मं‍त्रालय ने कहा है कि चीन के साथ सीमा विवाद के शांतिपूर्ण समाधान के लिए बातचीत जारी है.विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि भारत और चीन की सैन्य स्तर के साथ-साथ राजनयिक स्तरों पर बातचीत हो रही है.दोनों देशों ने सीमा पर शांति और शांति बनाए रखने के लिए कई प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए हैं. इस मुद्दे पर कई समझौते हुए हैं .भारत, चीन ने बातचीत के माध्यम से सीमा मुद्दों को हल करने के लिए सैन्य और राजनयिक स्तरों पर तंत्र स्थापित किये हैं.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा , "राजनयिक मोर्चे पर दिल्ली और बीजिंग के बीच मामले के समाधान के लिए बातचीत चल रही है. समस्या के समाधान के लिए चीन के साथ द्विपक्षीय समझौते में दी गई प्रक्रियाओं का भारतीय सैनिक सख्ती से पालन कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि हमारे सशस्त्र बलों ने नेताओं के बीच बनी सहमति और सीमा प्रबंधन में उनके द्वारा दिए गए दिशा निर्देश का गंभीरता के साथ पालन किया. इसके साथ ही साथ ही, हम अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करेंगे.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद (India-China Border Dispute) के मामले में अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने बुधवार को इस मामले में एक ट्वीट करके मध्‍यस्‍थता की पेशकश की है. अमेरिका राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, 'हमने भारत और चीन दोनों को सूचित किया है कि अमेरिका इस सीमा विवाद मामले में मध्‍यस्‍थता करने के लिए तैयार है और ऐसा करने में सक्षम है.धन्यवाद!' लद्दाख ने दोनों देशों की सीमाओं के लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) के आमने-सामने आने की घटना के बाद अमेरिकी राष्‍ट्रपति का यह बयान सामने आया था.लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में LAC के साथ लगे कई क्षेत्रों में भारतीय और चीनी सेनाओं में सैन्‍य जमावड़े और निर्माण कार्यों को दोनों देशों के बीच बढ़ रहे तनाव के तौर पर देखा जा रहा है. लगभग 3,500 किलोमीटर लंबी LAC को दोनों देश वास्तविक सीमा के तौर पर स्‍वीकार करते हैं.गौरतलब है कि तीन साल पहले डोकलाम विवाद के बाद एक बार फिर भारत और चीन के बीच तनातनी का माहौल बन गया है. कुछ खबरें आई है कि करीब 5000 सैनिक चीनी सीमा पर तैनात किए हैं. वहां पर बंकर्स बन रहे हैं. कुछ एयरक्राफ्ट भी वहां पर देखे गए हैं.

VIDEO: तेजस का एक और स्क्वाड्रन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com