NDTV Khabar

बतौर रक्षामंत्री कोशिश की कि कम से कम जिंदगियों को ही नुकसान हो : मनोहर पर्रिकर

जेके सीमेंट स्वच्छ एबिलिटी रन के दूसरे संस्करण के पुरस्कार वितरण समारोह में पर्रिकर ने कहा कि उन्होंने सैन्य बलों के जवानों को खुद शहीद होने की जगह दुश्मन का सफाया करने के निर्देश दिए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बतौर रक्षामंत्री कोशिश की कि कम से कम जिंदगियों को ही नुकसान हो : मनोहर पर्रिकर

मनोहर पर्रिकर (फाइल फोटो)

पणजी:

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने रविवार को कहा कि जब वह रक्षा मंत्री थे तो उन्होंने हमेशा यह सुनिश्चित किया कि किसी भी स्थिति में न्यूनतम जिंदगियों को ही नुकसान हो. जेके सीमेंट स्वच्छ एबिलिटी रन के दूसरे संस्करण के पुरस्कार वितरण समारोह में पर्रिकर ने कहा कि उन्होंने सैन्य बलों के जवानों को खुद शहीद होने की जगह दुश्मन का सफाया करने के निर्देश दिए थे.

पणजी में बस स्टैंड पर भीषण आग, सीएम मनोहर पर्रिकर ने किया दौरा

उन्होंने कहा, "हम अपनी सीमाओं की सुरक्षा में उनके योगदान को नहीं भूल सकते." उन्होंने कहा, "देश के लिए सब कुछ बलिदान करना जरूरी है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि जब आप लड़ने जाएं तो अपनी जान गंवा दें, बल्कि आपको अपने दुश्मनों का सफाया कर देना चाहिए. यही लक्ष्य था."


मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कभी-कभी शारीरिक रूप से अक्षम लोग सामान्य व्यक्ति की तुलना में समाज में ज्यादा योगदान दे सकते हैं.

टिप्पणियां

VIDEO- जब मनोहर पर्रिकर बने गोवा के सीएम...

उन्होंने कहा, "मैं यहां आया हूं क्योंकि मैं दिव्यांगों को समाज का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा मानता हूं. वे कभी-कभी सामान्य व्यक्ति से ज्यादा योगदान दे सकते हैं और मैंने इन क्षमताओं को देखा है. कुछ चीजों में उन्हें नुकसान होता लेकिन कुछ अन्य चीजों में मैंने उनकी क्षमताओं को देखा है."


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement