NDTV Khabar

EVM विवाद : कांग्रेस ने कहा- चुनाव में 50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों का मिलान हो

कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा- ईवीएम पर संदेह खत्म करने के लिए वीवीपैट पर्चियों का मिलान कराए चुनाव आयोग

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
EVM विवाद : कांग्रेस ने कहा- चुनाव में 50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों का मिलान हो

अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि ईवीम हैकिंग को लेकर लंदन में की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस से कांग्रेस का कोई संबंध नहीं है.

खास बातें

  1. EVM हैक करने संबंधी साइबर विशेषज्ञ के दावे पर बोली कांग्रेस
  2. कहा- विशेषज्ञ की प्रेस वार्ता की न तो पुष्टि कर सकते हैं, न ही खंडन
  3. कांग्रेस का इससे कोई लेना देना नहीं, सिब्बल को आमंत्रित किया इसलिए गए
नई दिल्ली:

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को हैक करने संबंधी एक साइबर विशेषज्ञ के दावे पर कांग्रेस ने कहा कि ईवीएम से जुड़े संदेह को खत्म करने के लिए चुनाव आयोग आगामी लोकसभा चुनाव में 50 फीसदी वीवीपैट का मिलान सुनिश्चित करे.

कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा कि हमने लंदन की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बारे में देखा और सुना है. शनिवार को कोलकाता में सभी दलों ने ईवीएम का मुद्दा उठाया था, सभी इसको लेकर चिंतित हैं. हम चाहते हैं कि चुनाव पेपर बैलेट से हों. सभी EVM में VVPAT हो और कम से कम 50 प्रतिशत VVPAT पर्चियों की गिनती हो. उन्होंने कहा कि हम साइबर विशेषज्ञ की प्रेस कॉन्फ्रेंस की न तो पुष्टि कर सकते हैं, न ही खंडन. लेकिन काफी गम्भीर सवाल उठाए गए हैं.

सिंघवी ने कहा कि EVM को लेकर कई आशंकाएं हैं. कांग्रेस का इस प्रेस कॉन्फ्रेंस से कोई लेना देना नहीं है. सिब्बल को आमंत्रित किया गया था इसलिए गए थे, लेकिन वे कांग्रेस का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहे थे. उन्होंने कहा कि हम 2019 के चुनाव में पेपर बैलेट की मांग नहीं कर रहे. समय कम है, हम चाहते हैं 50 फीसदी VVPAT हो. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में जो गंभीर बातें उठाई गई हैं, सरकार उसकी जांच कराए.


यह भी पढ़ें : EVM Hacking: ईवीएम को लेकर हैकर के दावे को चुनाव आयोग के टेक्निकल एक्सपर्ट ने किया खारिज

अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि दुनिया में कुछ चुनिंदा देशों में ईवीएम का उपयोग हो रहा है. कुछ देशों में जहां इसका उपयोग हो रहा था, वहां अब नहीं हो रहा है. हम चाहते थे कि मतपत्रों से चुनाव हों, लेकिन अब दो-तीन महीने का समय है इसलिए फिलहाल मतपत्रों से चुनाव संभव नहीं है.

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘आपको पता है कि कुछ मशीनों से खिलवाड़ किया जाता है. आंशिक रूप से किया जाता है. अगर लोकतंत्र में ईवीएम को लेकर इतना भयावह संदेह है तो इस संदेह को हटाने के लिए 50 फीसदी पर्चियों का मिलान होना चाहिए.'' सिंघवी ने कहा कि साइबर विशेषज्ञ के दावे को देखने के बाद ही वह इस पर टिप्पणी करेंगे.

यह भी पढ़ें : EVM से छेड़छाड़ के मामले को देखने के लिए विपक्षी नेताओं ने बनाई समिति, BJP पर लगाए गड़बड़ी के आरोप

गौरतलब है कि अमेरिका में राजनीतिक शरण चाहने वाले एक भारतीय साइबर विशेषज्ञ ने सोमवार को दावा किया कि भारत में 2014 के आम चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) के जरिए ‘धांधली' हुई थी. उसका दावा है कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है. स्काईप के जरिए लंदन में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शख्स ने दावा किया कि 2014 में वह भारत से पलायन कर गया था क्योंकि अपनी टीम के कुछ सदस्यों के मारे जाने की घटना के बाद वह डरा हुआ था. शख्स की पहचान सैयद शुजा के तौर पर हुई है.

VIDEO : कोलकाता में रैली के बाद विपक्ष ने उठाया ईवीएम का मुद्दा

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement