NDTV Khabar

Exclusive: डोकलाम में चीन ने कैसे बना ली हैं बड़ी सड़कें 

चीन के साथ डोकलाम सीमा विवाद का हल हुए अभी कुछ ही दिन हुए हैं. NDTV को इस इलाके की ऐसी हाईरेज सैटेलाइट तस्वीरें मिली हैं, जिससे पता चलता है कि पिछले 10 साल में चीन ने बहुत तेजी से इस 'विवादित' इलाके में सड़कों का निर्माण किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Exclusive: डोकलाम में चीन ने कैसे बना ली हैं बड़ी सड़कें 

डोकलाम की यह तस्वीर 2017 की है

खास बातें

  1. पिछले 10 साल में चीन ने बहुत तेजी से इस सड़कों का निर्माण किया है
  2. NDTV के पास इस इलाके की हाईरेज सैटेलाइट तस्वीरें हैं
  3. दोनों देशों के बीच जून महीने में शुरू हुवा विवाद 70 दिन चला था
नई दिल्ली:

चीन के साथ डोकलाम सीमा विवाद का हल हुए अभी कुछ ही दिन हुए हैं. NDTV को इस इलाके की ऐसी हाईरेज सैटेलाइट तस्वीरें मिली हैं, जिससे पता चलता है कि पिछले 10 साल में चीन ने बहुत तेजी से इस 'विवादित' इलाके में सड़कों का निर्माण किया है. चीन ने यहां हर मौसम में काम आने लायक सड़कों का निर्माण किया है. यह इलाका सिक्कम स्थित भारतीय सीमा डोकलाम के महज कुछ ही दूर है.

यह भी पढ़ें : डोकलाम का दोहराव न होने देने पर सहमत हुए शी चिनफिंग और नरेंद्र मोदी

सैटेलाइट तस्वीर से इस बात का भी पता चलता है कि डोकलाम से दो सड़क चुंबी वैली के यातुंग तक जाती है. यातुंग में चीनी सैनिकों का बेस कैंप है, जहां से डोकलाम में स्थित सैनिकों के लिए ऑपरेशन का सामान आता है. जून महीने से भारत और चीन के बीच चल रहे डोकलाम विवाद का अंत 70 दिन बाद तब अगस्त महीने में तब हुआ था, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए चीन का दौरा किया था. दोनों देशों के बीच इस टकराव को कई दशकों में सबसे बुरा करार दिया गया था और बाद में दोनों ही देशों ने इलाके से अपनी अपनी सेना पीछे करने की बात स्‍वीकार थी.

doklam
2005 में डोकलाम में चीन के द्वारा बनाई गई सड़कों की स्थिति. 
 
doklam
इसी सड़क को 2011 में ऐसा बना दिया गया. 

पीएम मोदी के चीन दौरे के बाद दोनों देशों की तरफ से आपसी बातचीत के बाद मामले को सुलझा लिया गया था. इसके बाद चीन ने सड़क निर्माण में लगे अपने बुल्डोजरों और कुछ और सामानों को वहां से हटाकर दूसरे स्थान पर ले गया था. जहां फिर से उसने सड़क का निर्माण शुरू किया था. यह जगह पुरानी जगह से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर है.

doklam
2005 में डोकलाम में उत्तरी प्रवेश मार्ग मौजूद नहीं था.
 
doklam

2017 में उत्तरी प्रवेश मार्ग पूरा हो चुका है. 

टिप्पणियां

किसी भी निर्माण को भारत बर्दाश्त नहीं करेगा
डोकलाम के मुद्दे पर भारत भूटान का समर्थन करता है और स्‍पष्‍ट कर चुका है कि वह ऐसे किसी भी निर्माण को बर्दाश्‍त नहीं करेगा, जिससे चीन को चिकन नेक तक पहुंच मिल जाए जो कि डोकलाम के ठीक दक्षिण में स्थित है. यह इलाका भारत को इसके उत्तर-पूर्वी राज्‍यों से जोड़ता है.

doklam

पिछले हफ्ते विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि 28 अगस्त के बाद से उस इलाके में कोई डेवलपमेंट नहीं हुआ है और इस क्षेत्र की स्थिति यथास्थिति बनी हुई है. लेकिन अभी भी यहां कुछ निर्माण का कार्य जारी है.  

VIDEO: भारत और चीन के बीच रहा डोकलाम विवाद सुलझा, दोनों देश हटाएंगे सेना
 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement