NDTV Khabar

Exclusive: 'मैडम, 500 ट्रेन गुजर जाए, तब भी 5000 लोग ट्रैक पर खड़े रहेंगे', जानिये इसके बारे में क्या कहा नवजोत कौर ने...

नवजोत कौर ने बताया कि मैं वहां से तुरंत इसलिए निकल गई थी, क्योंकि मुझे दूसरे प्रोग्राम में जाना था. लोग मेरे साथ सेल्फी ले रहे थे. मुझे हादसे का पता होता तो मैं सेल्फी नहीं देती.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Exclusive: 'मैडम, 500 ट्रेन गुजर जाए, तब भी 5000 लोग ट्रैक पर खड़े रहेंगे', जानिये इसके बारे में क्या कहा नवजोत कौर ने...

नवजोत कौर सिद्धू.

खास बातें

  1. 'मैंने आयोजकों से बोला था कि लोगों को ट्रैक से हटने के लिए कहिये'
  2. नवजोत कौर ने कहा- मैं आयोजन में सिर्फ 10 मिनट की देरी से पहुंची थी
  3. 'रेलवे पल्ला नहीं झाड़ सकता, ट्रैक पर जो होता है वह GRP की ज़िम्मेदारी'
अमृतसर:

पंजाब के अमृतसर (Amritsar Train Accident) में दशहरा के दिन एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को ऐसे मातम में बदला कि पल भर में 61 जिंदगियां काल के गाल में समा गईं. दरअसल, रावण दहन को देखने के लिए लोग पटरियों पर खड़े थे, तभी ट्रेन गुजरी और उसकी चपेट में आने से इतने सारे लोग मर गये. हालांकि, इस हादसे के बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. दशहरा कार्यक्रम की मुख्य अतिथि और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर पर भी आरोप लगे कि उन्होंने हादसे के बाद लोगों की मदद करने के बजाय वहां से भाग गईं. नवजोत कौर से जब NDTV संवाददाता ने इस बारे में विस्तार से बात की. नवजोत कौर ने बताया कि मैं वहां से तुरंत इसलिए निकल गई थी, क्योंकि मुझे दूसरे प्रोग्राम में जाना था. लोग मेरे साथ सेल्फी ले रहे थे. मुझे हादसे का पता होता तो मैं सेल्फी नहीं देती. उन्होंने कहा कि मैं आयोजन में सिर्फ 10 मिनट की देरी से पहुंची थी. मुझे 6:30 बजे का समय दिया गया था, मैं सिर्फ 10 मिनट देरी से पहुंची
थी.

यह भी पढ़ें : VIDEO: 'मैडम, 500 ट्रेन गुजर जाए, तब भी 5000 लोग ट्रैक पर खड़े रहेंगे', हादसे से पहले नवजोत कौर से बोला मंच संचालक


पढ़ें पूरा सवाल-जवाब...

सवाल: वायरल वीडियो में आयोजक आपसे कह रहे हैं कि 500 ट्रेन झेल लेंगे?
जवाब: आप वीडियो में देखिए मैं मुड़के बोल रही थी कि लोगों को हटने के लिए कहिए. मुझे बताया गया कि पांच बार कह चुके हैं हटने के लिए. अंधेरे में मुझे ट्रैक नहीं दिख रहा था.

सवाल: आप अगर खुद कह देतीं कि लोग हट जाएं तो हादसा न होता?
जवाब: नहीं मैंने आयोजकों से यह बोला था.

सवाल: आपने क्या आयोजन में आने से पहले परमिशन देखी थी?
जवाब: नहीं मैंने परमिशन नहीं देखी थी. इतने प्रोग्राम होते हैं सबकी नहीं देख सकती. जांच हो रही है, आयोजक दिखाएगा जो सच है.

सवाल: ज़िम्मेदारी किसकी है?  रेलवे ने तो मना कर दिया.
जवाब:
रेलवे पल्ला नहीं झाड़ सकता है. ट्रैक पर जो कुछ भी होता है वह जीआरपी की ज़िम्मेदारी होती है. परमिशन तो चार दीवारी की थी. गार्ड ने ग्रीन सिग्नल क्यों दिया? स्पीडोमीटर ख़राब था जांच नहीं हुई.

टिप्पणियां

सवाल: आप तुरंत निकल गई थीं पर वीडियो में कुछ और ही दिख रहा है?
जवाब: मैं तुरंत निकल गई थी. मुझे दूसरे प्रोग्राम में भी जाना था. लोग मेरे साथ सेल्फ़ी ले रहे थे. हादसे का पता होता तो मैं सेल्फी नहीं देती. मैं पूरी रात अस्पताल में ही थी. खुद स्टीचेस भी लगाई है. मैं भागी नहीं हूं मैं लोगों के बीच हूं. अब राजनीति हो रही है. बीजेपी और बादल राजनीति कर रहे हैं. आयोजक जल्द लोगों के बीच होगा. बाहर से आकर लोग भड़का रहे हैं. मुझे हर पेशंट के बारे मे पता है.

VIDEO : 'नवजोत कौर को पता था लोग ट्रैक पर खड़े हैं'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement