NDTV Khabar

स्वतंत्रता दिवस समारोह के पूर्वाभ्यास के बाद कश्मीर में मिल सकती है पाबंदियों में और ढील

अनुच्छेद 370 को निष्क्रिय करने के बाद घाटी में कई जगह धारा 144 लागू है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्वतंत्रता दिवस समारोह के पूर्वाभ्यास के बाद कश्मीर में मिल सकती है पाबंदियों में और ढील

खास बातें

  1. स्वतंत्रता दिवस समारोह के बाद मिल सकती है पाबंदी में ढील
  2. प्रशासन के मुताबिक जम्मू क्षेत्र से पूरी तरह हट गईं पाबंदियां
  3. संचार के लिए स्थापित किए गए हैं 300 पब्लिक बूथ
श्रीनगर:

अनुच्छेद 370 को निष्क्रिय करने के बाद घाटी में कई जगह धारा 144 लागू है.  हालांकि जम्मू कश्मीर प्रशासन का कहना है कि स्वतंत्रता दिवस समारोहों के लिए विभिन्न जिलों में पूर्वाभ्यास के पूरा होने के बाद पाबंदियों में आगे और ढील दिये जाने की उम्मीद है. समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कश्मीर के कई हिस्सों में निषेधाज्ञा में ढील दी गयी है, वहीं जम्मू क्षेत्र में पाबंदियां लगभग पूरी तरह से हटा ली गयी है. उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, कश्मीर के कई हिस्सों में पाबंदियां जारी हैं.'' प्रधान सचिव ने कहा, ‘‘हम यह आशा करते हैं कि (15 अगस्त के) स्वतंत्रता दिवस समारोहों के लिए जम्मू कश्मीर और लद्दाख के विभिन्न जिलों में चल रहे फुल ड्रेस रिहर्सल के समाप्त होने के बाद और अधिक ढील (पाबंदियों में) दी जाएगी.'' 

रोहित ने कहा कि प्रशासन को उम्मीद है कि राज्य के सभी हिस्सों में स्वतंत्रता दिवस समारोह भव्य तरीके से मनाया जाएगा. लगभग हफ्ते भर पहले जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों-जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख में बांटने के केंद्र के फैसले के बाद सुरक्षा कारणों को लेकर ये पाबंदियां लगाई गई थी. 


पाक ने माना आसान नहीं कश्मीर मुद्दे को UN में ले जाना, महमूद कुरैशी बोले- वहां कोई माला लिए नहीं खड़ा है

कंसल ने कहा कि प्रशासन राज्य के सभी हिस्सों में पाबंदियों में ढील देने की नीति अपना रहा है और सोमवार को ईद का त्योहार एवं नमाज शांतिपूर्ण रहें. उन्होंने कहा कि निरंतर यह कोशिश की जा रही है कि लोगों को रोक-टोक का सामना नहीं करना पड़े और उन्हें हर संभव तरीके से सुविधाएं मुहैया की जाए. प्रधान सचिव ने कहा कि जहां तक संचार की बात है, स्थानीय लोगों के लिए 300 पब्लिक बूथ स्थापित किये गए हैं, जहां से वे अपने सगे-संबंधियों और अन्य लोगों से बात कर सकते हैं. एक दिन में 5,000 फोन कॉल किये गए. उन्होंने कहा कि सभी तरह की मेडिकल सेवाएं सामान्य रूप से और निर्बाध जारी हैं. कंसल ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों का आवागमन सामान्य रूप से हो रहा है. पिछले 24 घंटों में 100 से अधिक भारी वाहन, एलपीजी सिलेंडर ढोने वाले ट्रक, तेल टैंकर और करीब 1500 हल्के वाहन एवं बसें गुजरी हैं. उन्होंने कहा, ‘‘उड़ानों का संचालन भी नियमित है.'' 

ईद के मद्देनजर जम्मू कश्मीर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, प्रशासन ने किए ये खास इंतजाम

टिप्पणियां

टि्वटर जैसे सोशल मीडिया मंचों पर फैलाई जा रही कुछ दुष्प्रचार करने वाली चीजों पर सरकार की प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर कंसल ने कहा, ‘‘जब कभी किसी फेक अकाउंट के बारे में या गलत सूचना फैलाने की कोशिश या शरारत की कोशिश के बारे में हमें जानकारी दी जाती है, उनसे प्रक्रिया के मुताबिक, कानून और सरकार के पास उपलब्ध सभी उपायों के तहत निपटा जाता है.'' यहां स्थित लाल चौक सहित राज्य के विभिन्न स्थानों पर 15 अगस्त को तिरंगा फहराने के बारे में पूछे जाने पर कंसल ने कहा कि इस अवसर को पूरे सम्मान एवं भव्यता के साथ मनाया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘स्वतंत्रता दिवस मनाने की एक खास परंपरा है. यह राष्ट्रीय त्योहार है और पूरे सम्मान एवं भव्यता से मनाया जाएगा. मुझे कुछ विशेष लोगों के बारे में कुछ नहीं कहना.'' प्रधान सचिव ने बताया कि स्थिति के स्थानीय आकलन के आधार पर कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है. (इनपुट-भाषा)

 VIDEO: लोगों की सुरक्षा के लिए लगाई गई घाटी में पाबंदी: रोहित कंसल



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement