देश में कब तक उपलब्ध हो सकती है COVID वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया

COVID-19 Vaccine: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने मंत्री समूह की बैठक के दौरान कहा, "हम उम्मीद कर रहे हैं कि अगले साल की शुरुआत में एक से अधिक स्रोतों से देश में वैक्सीन होगी."

देश में कब तक उपलब्ध हो सकती है COVID वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया

Covid-19 vaccine in India: 2021 के शुरुआत में देश में आ सकती है कोरोना की वैक्सीन (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • देश में अगले साल की शुरुआत तक COVID वैक्सीन उपलब्ध होने की उम्मीद
  • एक से अधिक स्त्रोतों से उपलब्ध हो सकती है वैक्सीन : हर्षवर्धन
  • वैक्सीन के वितरण को लेकर रणनीति बनाने में जुटे विशेषज्ञ समूह : मंत्री
नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के बीच स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ( Dr Harsh Vardhan) ने मंगलवार को कहा कि भारत में अगले साल की शुरुआत तक कोरोनावायरस के खिलाफ वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) उपलब्ध होने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि हम उम्मीद कर रहे हैं हमारे पास एक से ज्यादा स्त्रोत से वैक्सीन उपलब्ध होगी. हाल ही में केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि 2021 की पहली तिमाही तक हमारे पास एक कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) उपलब्ध होने की संभावना है.  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने आज मंत्री समूह की बैठक के दौरान कहा, "हम उम्मीद कर रहे हैं कि अगले साल की शुरुआत में एक से अधिक स्रोतों से देश में वैक्सीन उपलब्ध होनी चाहिए. देश में टीकों का वितरण किस प्रकार से किया जाए इसे लेकर हमारे विशेषज्ञ समूह पहले से ही रणनीति तैयार करने में जुटे हुए हैं. हम निश्चित रूप से कोल्ड चेन सुविधाओं को मजबूत कर रहे हैं."

मौजूदा समय में, देश में चार कोरोनावायरस वैक्सीन का प्री-क्लीनिकल ट्रायल (Pre-Clinical Trial) एडवांसड स्टेज में है.

इससे पहले, रविवार को स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि  सरकार ने भारत में कोविड-19 टीके के आपातकालीन प्रयोग की मंजूरी पर फिलहाल कोई निर्णय नहीं किया है. उन्होंने कहा, ‘‘रोगियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की खातिर टीके के आपातकालीन प्रयोग की अनुमति देने के लिए पर्याप्त सुरक्षा और प्रभावी आंकड़ों की जरूरत होगी. आंकड़ों के आधार पर ही आगे की कार्रवाई निर्भर करेगी.''

स्वास्थ्य मंत्री ने रविवार को कहा, "भारत की बड़ी आबादी को देखते हुए एक वैक्सीन या एक वैक्सीन विनिर्माता पूरे देश की वैक्सीन की जरूरतों को पूरा नहीं कर सकता है. इसलिए हम भारतीय आबादी के लिए उनकी उपलब्धता के अनुसार, देश में कई COVID-19 वैक्सीन को पेश करने की व्यवहार्यता का आकलन करने के लिए स्वतंत्र हैं."

जॉनसन एंड जॉनसन ने बंद किया COVID-19 वैक्सीन का ट्रायल, बताई यह वजह 

Newsbeep

बता दें कि अमेरिका के बाद भारत कोरोनावायरस महामारी से दूसरे सबसे ज्यादा प्रभावित देश है. भारत में कोविड-19 के 55,342 नए मामले सामने आने से संक्रमण के कुल मामले 71.75 लाख के पार पहुंच गए हैं जबकि बीमारी से ठीक होने वालों की संख्या 62 लाख को पार कर गई है.

वीडियो: स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन की चेतावनी, ठंड में और बढ़ सकता है खतरा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com