NDTV Khabar

मणिपुर के चूराचंदपुर जिले में हिंसा, पूर्व मंत्री के घर पर भीड़ ने बोला धावा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मणिपुर के चूराचंदपुर जिले में हिंसा, पूर्व मंत्री के घर पर भीड़ ने बोला धावा

चुनावों के दौरान मणिपुर में हिंसक गतिवधियां बढ़ गई हैं

इंफाल: मणिपुर विधानसभा चुनावों में दूसरे और अंतिम दौर के लिए आज मतदान किया जाएगा, लेकिन मतदान से पहले राज्य में अशांति फैल गई है. पहले से ही आर्थिक नाकेबंदी का दंश झेल रहे मणिपुर में हिंसा भी फैल गई है. चूराचंदपुर जिले के मुख्यालय शहर लमका में क्रुद्ध आदिवासियों की भीड़ द्वारा पूर्व मंत्री फुंगजाथंग टोनसिंग के निवास पर धावा बोलने की कोशिश के बाद इलाके में हिंसा फैल गई. इसके अलावा कामजोंग जिले में बम विस्फोट भी हुआ.

चूराचंदपुर के पुलिस अधीक्षक राकेश बलवाल ने बताया कि पुलिस को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े. दो व्यक्तियों--थांगसुआनलाल और थांगकहानलून पर गंभीर हमले के बाद लमका में तनाव पनप रहा था. इसके बाद मंगलवार को जिला मुख्यालय में यंग पैते एसोसिएशन ने सुबह पांच बजे से 12 घंटे के बंद का आह्वान किया था.

पुलिस बताया कि स्थिति अब नियंत्रण में है और एहतियात के तौर पर बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. पूर्व कांग्रेस नेता फुंगजाथंग ने विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी छोड़ दी थी. उन्होंने नेशनल पीपुल्स पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा है.

उधर, कामजोंग जिले में भारत-म्यांमार सीमा के निकट मंगलवार की शाम उग्रवादियों द्वारा किए गए दो बम विस्फोटों में एक मतदान अधिकारी और असम राइफल्स का एक जवान घायल हो गया. दोनों विस्फोटों की जिम्मेदारी अभी तक किसी भी संगठन ने नहीं ली है.

पुलिस ने कहा, "ऐशी गांव में अपराह्न 3.30 बजे एक शक्तिशाली विदेशी बम विस्फोट हुआ, जिसमें 31 असम राइफल्स का एक जवान घायल हो गया." पीड़ित को इंफाल के लीमाखोंग स्थित सेना अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस घटना के लगभग 30 मिनट बाद आशांग खुलेन गांव के निकट एक शक्तिशाली बम विस्फोट हुआ, जिसमें एक मतदान अधिकारी घायल हो गया.



टिप्पणियां

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement