फेसबुक‍ इंडिया की पॉलिसी हेड ने संसदीय समिति द्वारा पूछताछ के बाद द‍िया इस्तीफा

पिछले ही हफ्ते फेसबुक की पॉलिसी हेड अंखी दास से संसदीय समिति के सदस्यों ने भारतीयों के डेटा की सुरक्षा से जुड़े मसले पर करीब दो घंटे तक सवाल-जवाब किए थे.

फेसबुक‍ इंडिया की पॉलिसी हेड ने संसदीय समिति द्वारा पूछताछ के बाद द‍िया इस्तीफा

फेसबुक इंडिया की पॉलिसी हेड अंखी दास (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

फेसबुक (Facebook) इंडिया की पॉलिसी हेड अंखी दास (Ankhi Das) ने कंपनी में अपने पद से इस्तीफा दे द‍िया है. बता दे कि उनका नाम इस सोशल मीडिया साइट पर नफरत फैलाने वाले भाषणो से निपटने को लेकर विवादों में आया था. फेसबुक के भारत में प्रबंध निदेशक अजीत मोहन ने ई-मेल के जरिये बयान में कहा, ‘‘अंखी दास ने फेसबुक में अपने पद से हटने का निर्णय किया है. उन्होंने जन सेवा में अपनी रुचि के अनुसार काम करने के लिये यह कदम उठाया है. अंखी हमारे उन पुराने कर्मचारियों में शामिल हैं, जिन्होंने कंपनी को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभायी...''

अंखी दास और फेसबुक दोनों से को सरकार और अपने कर्मचारियों दोनों की ओर से सवालों का सामना करना पड़ा था कि इस बड़े सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर राजनीतिक कंटेंट को कैसे रेगुलेट क‍िया जाता है. अकेले भारत में भी फेसबुक के 30 करोड़ से ज्यादा उपयोगकर्ता हैं.

पिछले ही हफ्ते फेसबुक की पॉलिसी हेड अंखी दास से संसदीय समिति के सदस्यों ने भारतीयों के डेटा की सुरक्षा से जुड़े मसले पर करीब दो घंटे तक सवाल-जवाब किए थे.

Newsbeep

फेसबुक इंडिया के अधिकारी शुक्रवार को संयुक्त संसदीय समिति के समक्ष इस मसले पर पेश हुए थे. डेटा प्रोटेक्शन बिल पर अपना पक्ष रखने को लेकर यह बैठक दो घंटे तक चली थी. बैठक में फेसबुक इंडिया का प्रतिनिधित्व पॉलिसी हेड अंखी दास और बिजनेस हेड अजित मोहन ने किया. उन्हें स्पष्ट तौर पर बताया गया कि वे किसी भी भारतीय नागरिक का डेटा प्रचार, कारोबार या चुनाव के दौरान आनुमानिक तौर पर इस्तेमाल नहीं कर सकते.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सूत्रों ने बताया था कि सांसदों ने फेसबुक के अधिकारियों से पूछा कि वे अपने राजस्व का कितना हिस्सा यूजर्स के डेटा प्रोटेक्शन पर खर्च करते हैं. उनसे फेसबुक के कुल राजस्व के बारे में भी मालूमात की गई. कितना टैक्स वे चुकाते हैं, इसकी जानकारी भी मांगी गई थी. (इनपुट भाषा से...)