NDTV Khabar

जम्‍मू-कश्‍मीर के पुंछ में पाकिस्‍तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) के हमले में दो भारतीय जवान शहीद

पाकिस्तानी बार्डर एक्शन टीम की ओर से गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रही भारतीय सेना, एक घुसपैठिया घायल

139 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्‍मू-कश्‍मीर के पुंछ में पाकिस्‍तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) के हमले में दो भारतीय जवान शहीद

पाकिस्तानी बार्डर एक्शन टीम के हमले में शहीद हुए जवान सिपाही सावन बालकू माने और नायक संदीप सर्जेराव जाधव.

खास बातें

  1. दोपहर में पाकिस्तान की ओर से बैट ने घुसपैठ की कोशिश कराई
  2. बैट ने नियंत्रण रेखा पर पेट्रोलिंग कर रहे जवानों को निशाना बनाया
  3. घायल घुसपैठिए की बैट ने भागने में मदद की.
नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आज दोपहर दो बजे नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) की ओर से सशस्त्र आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश की गई जिसे सेना ने नाकाम कर दिया. बैट द्वारा किए गए हमले में भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए. सेना ने एक घुसपैठिए को मार गिराया और एक घायल हो गया. पाकिस्तानी चौकियों की ओर से गोलीबारी की जा रही है जिसका मुंहतोड़ जवाब भारतीय सेना दे रही है.  

बैट के हमले में भारतीय सेना के सिपाही सावन बालकू माने और नायक संदीप सर्जेराव जाधव शहीद हो गए. नायक संदीप सर्जेराव जाधव 35 वर्ष के थे और महाराष्ट्र के औरंगाबाद के निवासी थे. वे 15 साल से सेना में सेवारत थे. सिपाही सावन बालकू  माने 25 वर्ष के थे. वे महाराष्ट्र के कोल्हापुर के निवासी थे.  

पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम की मदद से हथियारों से लैस घुसपैठियों ने इस साल पुंछ में तीसरी बार घुसपैठ की कोशिश की. गुरुवार दोपहर दो बजे हुई इस कोशिश को सेना ने नाकाम कर दिया. बैट ने पेट्रोलिंग कर रहे जवानों को निशाना बनाया. इस पर जवाबी कार्रवाई की गई. दोनों ओर से जमकर फायरिंग जारी है. भारतीय सेना भारी फायरिंग करके पाक को मुंहतोड़ जवाब दे रही है.

सेना के पेट्रोलिंग दल ने एक सशस्त्र घुसपैठिए को मार गिराया है. नियंत्रण रेखा पर उसका शव पड़ा है. एक अन्य सशस्त्र घुसपैठिया घायल हो गया जिसकी बैट ने गोलीबारी करके भागने में मदद की. घुसपैठियों के खिलाफ सेना का अभियान जारी है और दोनों ओर से गोलीबारी चल रही है.

आपको ये बता दे पाक की बॉर्डर एक्शन टीम यानी कि बैट ऐसी टीम है जिसमें पाक सेना और आतंकी दोनों होते हैं. इनका काम मौका मिलते ही एलओसी पर भारतीय सेना के जवानों पर घात लगाकर हमला करना होता है. सीमा पर जितने भी जवानों के शव के साथ छेड़छाड़ हुई है उसके पीछे बैट का ही हाथ होता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement