NDTV Khabar

बेंगलुरु पुलिस की क्राइम ब्रांच ने फ़र्ज़ी डि‍ग्री गिरोह का पर्दाफाश किया, 5 गिरफ्तार

बेंगलुरु पुलिस क्राइम ब्रांच ने एक अंतर्राज्यीय फ़र्जी डिग्री गिरोह का पर्दाफाश किया है. इसके नेटवर्क में देश भर में 180 एजेंट सक्रिय हैं.

8 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेंगलुरु पुलिस की क्राइम ब्रांच ने फ़र्ज़ी डि‍ग्री गिरोह का पर्दाफाश किया, 5 गिरफ्तार
बेंगलुरु पुलिस क्राइम ब्रांच ने एक अंतरराज्यीय फ़र्जी डिग्री गिरोह का पर्दाफाश किया है. इसके नेटवर्क में देश भर में 180 एजेंट सक्रिय हैं. पिछले 2 सालों के दौरान इस गिरोह ने लगभग 1 लाख 60 हज़ार फ़र्ज़ी डिग्रियां 15 हज़ार से एक लाख रुपये में बेची हैं. ये डिग्रियां एमबीए एमटेक और इंजीनियरिंग से जुडे देश मे जाने माने 29 विश्वविद्यालयों की हैं.

बेंगलुरु पुलिस के डीसीपी क्राइम आनंद कुमार ने बताया कि बेंगलुरु में क्राइम ब्रांच को जानकारी  मिली थी, जिसके बाद पहली गिरफ्तारी की गई. इस मामले की जांच आगे बढ़ाने पर पता चला कि मामले के तार उत्तप्रदेश के गाज़ियाबाद तक फैले हैं.

इतना ही नहीं इस मामले में यह बात भी सामने आई कि इस नेटवर्क का किंगपिन दिल्ली के प्रीतमपुरा के एक जाने माने माल से अपना दफ्तर चला रहा था. पुलिस ने वहां छापा मारकर संदेश अग्रवाल नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया. इस आरोपी ने डबल ऐट कंसल्टेंसी के नाम से माल में अपना दफ्तर खोल रखा था. 

टिप्पणियां
पुलिस को अंदेशा है कि इस गिरोह के नेटवर्क से जुड़े दूसरे एजेंट गिरफ्तारी के डर से अंडरग्राउंड हो गए हैं. 

ये गिरोह जहां ग्रेजुएशन और इस तरह के दूसरे नॉन टेक्निकल कोर्सेज की डिग्री के लिए 15 से 50 हज़ार रुपये में दिलाता था वहीं एमबीए, एम-टेक, बीटेक जैसे कोर्सेज की डिग्री के लिए एक लाख रुपये की कीमत तय की गई थी. पुलिस ने दिल्ली, बेंगलुरु और गाज़ियाबाद के इनके ठिकानों से फ़र्ज़ी स्टाम्प,  723 तैयार फ़र्ज़ी डिग्रियां और लगभग 800 प्रिंट के लिए तैयार डिग्रियां जब्त की हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement