Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

हिन्दी के प्रख्यात कहानीकार रवींद्र कालिया का 78 साल की उम्र में निधन

ईमेल करें
टिप्पणियां
हिन्दी के प्रख्यात कहानीकार रवींद्र कालिया का 78 साल की उम्र में निधन

रवींद्र कालिया की फाइल तस्वीर

नई दिल्ली: हिन्दी के प्रख्यात कहानीकार एवं कई साहित्यिक पत्रिकाओं के संपादक रह चुके रवींद्र कालिया का शनिवार को निधन हो गया। वह 78 वर्ष के थे। पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि वह पिछले कुछ समय से लीवर सिरोसिस से पीड़ित थे और उनका राजधानी के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार रविवार को लोधी रोड शवदाह गृह में किया जाएगा।

कालिया को साठोत्तरी हिन्दी कहानी में एक सशक्त कहानीकार के रूप में जाना जाता है। उनकी 'नौ साल छोटी पत्नी' कहानी काफी चर्चित हुई। कुछ साल पहले आई उनकी आत्मकथा रूपी रचना 'गालिब छूटी शराब' भी काफी सराही गई।

कालिया धर्मयुग सहित कई पत्र-पत्रिकाओं से जुड़े रहे। वह 'वागर्थ' और 'नया ज्ञानोदय' पत्रिका के संपादक भी रह चुके थे। वह भारतीय ज्ञानपीठ के निदेशक भी रहे थे। साहित्य अकादमी के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद तिवारी ने कहा कि कालिया के निधन से समकालीन हिन्दी साहित्य को गहरा आघात लगा है।

तिवारी ने कहा कि कालिया ने अपने समय की विसंगतियों और विडंबनाओं को बेबाक अंदाज में व्यक्त किया। एक संपादक के रूप में 'वागर्थ' और 'नया ज्ञानोदय' द्वारा उन्होंने नई प्रतिभाओं को रेखांकित करने का प्रशंसनीय प्रयास किया था।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement