बेटे से नाराज रहने वाले किसान ने पालतू कुत्ते के नाम कर दिया जायदाद का हिस्सा

मामला छिंदवाड़ा के बाड़ीबाड़ा गांव का है. बाड़ीबाड़ा गांव के किसान ओम नारायण ने अपने कुत्ते को 2 एकड़ जमीन का हकदार बना दिया. किसान ने बाकायदा अपनी वसीयत में अपनी जायदाद का हिस्सा अपने कुत्ते के नाम किया है.

बेटे से नाराज रहने वाले किसान ने पालतू कुत्ते के नाम कर दिया जायदाद का हिस्सा

किसान ओमनारायण अपने बेटे के व्यवहार से नाराज था

भोपाल:

अक्षय कुमार की रील लाइफ में आई हिन्दी फिल्म में पालतू कुत्ते एंटरटेंमेंट के नाम पर सारी वसीयत कर दी जाती है. वैसे ही मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में रीयल लाइफ में एक किसान ने अपनी पूरी तो नहीं लेकिन जायदाद का कुछ हिस्सा अपने पालतू कुत्ते जैकी के नाम पर कर दिया है. मामला छिंदवाड़ा के बाड़ीबाड़ा गांव का है. बाड़ीबाड़ा गांव के किसान ओम नारायण ने अपने कुत्ते को 2 एकड़ जमीन का हकदार बना दिया. किसान ने बाकायदा अपनी वसीयत में अपनी जायदाद का हिस्सा अपने कुत्ते के नाम किया है. जबकि बाकि जमीन का हिस्सा अपनी पत्नी चंपा के नाम किया है.

किसान ओमनारायण अपने बेटे के व्यवहार से नाराज था, जिसके चलते उसने अपनी वसीयत में अपने बेटे की जगह पालतू कुत्ते को जायदाद का हिस्सेदार बना दिया. किसान ने कानूनी शपथ पत्र बनाकर अपने पालतू कुत्ते को वारिस घोषित किया है.

Newsbeep

50 साल के ओम नारायण वर्मा ने अपनी वसीयत में लिखा है कि 'मेरी सेवा मेरी पत्नी और पालतू कुत्ता करता है इसलिए मेरे जीते जी वह मेरे लिए सबसे अधिक प्रिय हैं. मेरे मरने के बाद पूरी संपत्ति और जमीन-जायदाद के हकदार पत्नी चम्पा वर्मा और पालतू कुत्ता जैकी होगा. साथ ही कुत्ते की सेवा करने वाले को जायदाद का अगला वारिस माना जायेगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ओमनारायण वर्मा ने बताया कि पारिवारिक विवाद के चलते गुस्से में 2 एकड़ जमीन उन्होंने अपने पालतू कुत्ते के नाम की है, परिवार में जो भी उसका पालन पोषण करेगा उसकी जायदाद उसको मिलेगी. ओमनारायण वर्मा के पास 21 एकड़ ज़मीन है.
(छिंदवाड़ा से सचिन पांडे के इनपुट के साथ)