दिल्‍ली मार्च: राह की सभी अड़चनों को दूर करने का किसानों का 'साहस' सोशल मीडिया पर हुआ हिट..

गुरुवार देर रात किसानों का एक बड़ा ग्रुप जब हरियाणा के सोनीपत से दिल्‍ली की ओर बढ़ रहा था तो उन्‍हें रोकने के लिए पुलिस ने जगह जगह बैरिकेड्स लगा दिए थे.

दिल्‍ली मार्च: राह की सभी अड़चनों को दूर करने का किसानों का 'साहस' सोशल मीडिया पर हुआ हिट..

राह की बाधाओं को दूर करते हुए किसान

नई दिल्ली:

Farmers Protest: किसान कानूनों के विरोध में आवाज बुलंद करते हुए देश के किसानों (Farmers) ने दिल्‍ली की ओर कूच किया है. इस 'विरोध मार्च' (Protest march) के दौरान पुलिस प्रशासन ने बैरिकेड्स, आंसू गैस और वाटर कैनन का इस्‍तेमाल कर उन्‍हें रोकने की भरसक कोशिश की गई लेकिन किसानों ने इन बाधाओं को अपनी राह की अड़चन नहीं बनने दिया. किसानों ने जिस अंदाज में इस बाधाओं को पार किया, उसे लेकर सोशल मीडिया पर कई प्रशंसाभरे ट्वीट सामने आए हैं. गुरुवार देर रात किसानों का एक बड़ा ग्रुप जब हरियाणा के सोनीपत से दिल्‍ली की ओर बढ़ रहा था तो उन्‍हें रोकने के लिए पुलिस ने जगह जगह बैरिकेड्स लगा दिए, यहीं नहीं, ट्रैक्‍टर पर सवार किसानों को सीमा पार करने से रोकने के लिए जगह-जगह रोड को खोद दिया गया था और बड़े कंटेनर के जरिये उनका रास्‍ता रोकने का प्रयास किया गया. हर हालत में दिल्‍ली पहुंचने के निश्‍चय से आए किसानों ने हालांकि इन सभी बाधाओं को दूर किया, उन्‍होंने अपनी राह में अड़चन बने सभी बैरिकेड्स को हटा दिया.

किसानों को मिली दिल्ली आने की इजाजत, लेकिन मंजूर नहीं मैदान में प्रदर्शन

सामाजिक कार्यकर्ता आनंद मंगनाले ने एक वीडियो शेयर कर बताया है कि किसानों ने इन अड़चनों पर किस तरह से जीत हासिल की. उनका यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है. अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा, 'किसानों ने बैरिकेड की बाधाओं को पार कर दिया. उन्‍होंने कंटेनर्स को धक्‍का देकर अपने रास्‍ते से दूर कर दिया. सड़क के गड्डों को भर दिया, सीमेंटट स्‍ट्रक्‍चर को हआ दिया और पुलिस की ओर से वाटर कैनन के इस्‍तेमाल के बावजूद अपने लिए राह बना ली.'

"कोरोना से डर नहीं लगता, भेदभाव से लगता है" : दिल्ली कूच कर रहे किसान बोले

गौरतलब है कि पंजाब और हरियाणा के आंदोलनरत हजारों किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए हरियाणा पुलिस (Haryana Police) ने मिलिट्री की टैक्टिक अपनाई है. दिल्ली आने वाले रास्तों में बॉर्डर पर पुलिस ने सड़क खोद दी थी ताकि ट्रैक्‍टर पर सवार किसान दल-बल के साथ आगे न बढ़ सकें. पुलिस ने सड़कों पर गड्ढे खोदने के अलावा भारी ट्रकों को बैरिकेड्स के रूप में खड़े कर रखे थे . इनके अलावा कंटीले तारों से भी बैरिकेड्स किए गए. गौरतलब है कि सड़क पर खोदे गए गड्ढे और तमाम बाधाओं को खड़ी करने के पीछे बीजेपी शासित हरियाणा की पुलिस की मंशा यह थी कि किसी भी सूरत में किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोक दिया जाए. पंजाब-हरियाणा समेत छह राज्यों को करीब 500 संगठनों के किसान तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं और केंद्र सरकार से उसके प्रावधानों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

Newsbeep

किसानों को हटाने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com