NDTV Khabar

कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार रहेगी या जाएगी, फ्लोर टेस्ट के साथ आज हो सकता है फैसला

कर्नाटक में जनता दल सेक्यूलर और कांग्रेस की साझा सरकार रहेगी या जाएगी, इसका फैसला सोमवार को होने की उम्मीद है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार रहेगी या जाएगी, फ्लोर टेस्ट के साथ आज हो सकता है फैसला

कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार रहेगी या जाएगी, इसका फैसला सोमवार को होने की उम्मीद है.

नई दिल्ली :

कर्नाटक में जनता दल सेक्यूलर और कांग्रेस की साझा सरकार रहेगी या जाएगी, इसका फैसला सोमवार को होने की उम्मीद है. 15 विधायकों के इस्तीफे के साथ इस गठबंधन की सरकार पर उठे सवालों का हल विधानसभा में विश्वास मत के साथ हो सकता है. सोमवार को पड़ने वाले वोट से पहले बीजेपी प्रमुख बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि सोमवार को कुमारस्वामी सरकार का आखरी दिन साबित होगा. दरअसल, सरकार से समर्थन वापस लेने वाले दो निर्दलीय विधायकों - आर शंकर और एच नागेश ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डाल कर जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की है. इससे पहले मुख्यमंत्री कुमारस्वामी और कांग्रेस के प्रदेश प्रमुख दिनेश गुंडु राव ने भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली है. इन याचिकाओं में उन्होंने राज्यपाल पर विधानसभा की कार्रवाई में हस्तक्षेप का आरोप लगाया है.  

कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट से पहले BSP प्रमुख मायावती ने अपने एकमात्र विधायक को दिया निर्देश, कहा...


दरअसल, कर्नाटक विधान सभा के स्पीकर को पहले दो बार राज्यपाल विश्वास मत के लिए समय सीमा दे चुके हैं, लेकिन अब तक विश्वास मत नहीं हो पाया है. इन सबके बीच बीएसपी प्रमुख मायावती ने बसपा के इकलौते विधायक से कुमारस्वामी सरकार बचाने के लिए वोट देने को कहा है. दूसरी तरफ, खबर है कि मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने बागी विधायकों से वापस लौटने और सदन में चर्चा के दौरान भाजपा को ‘‘बेनकाब'' करने की अपील की. हालांकि बागी विधायकों ने सत्र में हिस्सा लेने की संभावना खारिज कर दी है. कुमारस्वामी ने रविवार को एक बयान में कहा, ‘विश्वासमत पर चर्चा के लिए समय लेने का मेरा इरादा केवल यह है कि पूरा देश यह जान सके कि नैतिकता की बात करने वाली भाजपा लोकतंत्र के साथ ही संविधान के सिद्धांतों को पलटना चाहती है.'  

कर्नाटक का सियासी ड्रामा जारी, अब तक नहीं हो पाया विश्वास मत, विधानसभा सोमवार तक के लिए स्‍थगित

कुमारस्वामी ने बागी विधायकों को बातचीत की पेशकश की ताकि उनके मुद्दों का समाधान किया जा सके. हालांकि मुम्बई के होटल में रुके बागी विधायकों ने जोर देकर कहा कि वे वापस नहीं लौटेंगे और इस आरोप को भी खारिज कर दिया कि उन्हें बंधक बनाया गया है. जदएस के बागी विधायक के गोपालैयाह ने 10 अन्य विधायकों के साथ एक वीडियो संदेश में कहा, ‘हमने सोचा था कि यह सरकार राज्य के लिए अच्छा करेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ. कल विधानसभा सत्र में हिस्सा लेने का कोई सवाल ही नहीं है.' (इनपुट-भाषा से भी) 

टिप्पणियां

VIDEO: कर्नाटक के 'स्वामी' पर संकट जारी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement