NDTV Khabar

डीएनए फिंगरप्रिंटिंग के जनक और BHU के पूर्व कुलपति डॉ. लालजी सिंह का निधन

वह हैदराबाद के सेलुलर और आणविक जीव विज्ञान के पूर्व निदेशक भी रह चुके हैं. डॉ. लालजी सिंह को डीएनए फिंगरप्रिटिंग का जनक भी कहा जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डीएनए फिंगरप्रिंटिंग के जनक और BHU के पूर्व कुलपति डॉ. लालजी सिंह का निधन

बीएचयू ( फाइल फोटो )

वाराणसी:

भारत के मशहूर डीएनए वैज्ञानिक और बीएचयू के पूर्व कुलपति डॉ. लालजी सिंह का 70 साल की उम्र में निधन हो गया है वह हैदराबाद के सेलुलर और आणविक जीव विज्ञान के पूर्व निदेशक भी रह चुके हैं. डॉ. लालजी सिंह को डीएनए फिंगरप्रिटिंग का जनक भी कहा जाता है. वह जौनपुर के रहने वाले थे. 

बीएचयू में होगी इबोला और जीका वायरस की भी जांच

टिप्पणियां

मिली जानकारी के मुताबिक वह तीन दिन पहले ही जौनपुर स्थित अपने गांव आए थे और वहां से हैदराबाद जा रहे थे. वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पर उनको दिल का दौरा आया जहां से उन्हें आनन-फानन में बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका.  डॉ. लाल सिंह ने ही पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद उनके शव का डीएनए टेस्ट किया था.


वीडियो : बीएचयू में पूछे गए इस बार ये सवाल
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement