NDTV Khabar

17 महीने बाद आईएस के चंगुल से छूटे फादर टॉम पहुंचे भारत, प्रधानमंत्री से की मुलाकात

आतंकी संगठन आईएस के चंगुल से छूटे फ़ादर टॉम आखिरकार भारत पहुंच गए हैं. नई दिल्ली पहुंचकर उन्होंने प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की.

178 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
17 महीने बाद आईएस के चंगुल से छूटे फादर टॉम पहुंचे भारत, प्रधानमंत्री से की मुलाकात

फादर टॉम का पिछले साल यमन में आईएस आतंकियों ने अपहरण कर लिया था

खास बातें

  1. 4 मार्च, 2016 को आतंकियों ने यमन के एक वृद्धाश्रम पर हमला किया
  2. वृद्धाश्रम से भारतीय पादरी फादर टॉम को अगवा कर लिया गया था
  3. 12 सितंबर को मुक्त हुए थे फादर टॉम आईएस के चंगुल से
नई दिल्ली: आतंकी संगठन आईएस के चंगुल से छूटे फ़ादर टॉम आखिरकार भारत पहुंच गए हैं. फादर टॉम उड़न्नलिल को यमन के शहर अदन से आईएस ने अगुवा किया था. 17 महीने बाद वे उनके चंगुल से छूटे हैं. दिल्ली आने के बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. 

पढ़ें: इस्लामिक स्टेट द्वारा अगवा किए गए केरल के फादर की रिहाई के लिए भावुक अपील

केरल के इस पादरी ने दिल्ली हवाईअड्डे पर उन सभी लोगों के प्रति आभार जताया जिन्होंने उनकी रिहाई में मदद की. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "मैं बहुत खुश हूं. इस दिन को संभव बनाने के लिए ईश्वर का धन्यवाद. मैं उन सभी लोगों का आभारी हूं जिन्होंने मेरी सुरक्षित रिहाई के लिए अपने-अपने स्तर से काम किया." 

VIDEO: आईएस के चंगुल से छूटे फादर टॉम ने किया सभी का धन्यवाद
इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पादरी को गुलदस्ता देते हुए मोदी की एक तस्वीर साझा की. 

आतंकवादियों ने पिछले साल मार्च में यमन के अदन शहर में मिशनरीज ऑफ चैरिटी के एक वृद्धाश्रम पर हमला कर मिशनरीज की चार ननों समेत कई लोगों की हत्या कर दी थी और फादर टॉम को बंधक बना लिया था. उनकी रिहाई भारत और ओमान के शाह के हस्तक्षेप के बाद संभव हुई. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement