NDTV Khabar

चक्रवाती तूफान 'बुलबुल’ के कल आधी रात के बाद विकराल रूप लेने की आशंका

तूफान पर रखी जा रही हर पल नजर, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और अंडमान निकोबार में एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गईं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चक्रवाती तूफान 'बुलबुल’ के कल आधी रात के बाद विकराल रूप लेने की आशंका
नई दिल्ली:

बहुत तेज चक्रवाती तूफान 'बुलबुल' (BULBUL) पश्चिम मध्य और पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर पिछले छह घंटों के दौरान 13 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है. आज सुबह साढ़े 11 बजे से यह तूफान पश्चिम मध्य और पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी पास पारादीप (ओडिशा) के दक्षिण-पूर्व में 310 किमी, 450 किमी दक्षिण-पूर्व में सागर द्वीप समूह (पश्चिम बंगाल) और खेपुपारा (बांग्लादेश) से 550 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रित है.  शनिवार की सुबह तक इसके उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है.

बुलबुल उत्तर-पूर्व की ओर घूमकर 9 नवंबर को मध्यरात्रि में सागर द्वीप (पश्चिम बंगाल) और खेपुपारा (बांग्लादेश) के बीच सुंदरबन डेल्टा पर भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में तब्दील हो जाएगा. तब इसके 135 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार के साथ इस हिस्से को पार करने की संभावना है.

एनडीआरएफ ने पश्चिम बंगाल में तूफान की स्थिति से निपटने के लिए 10 टीमें  तैनात की हैं. चार टीमें सागर द्वीप साउथ 24 परगना में तैनात की गई हैं.  तीन टीमें सिलीगुड़ी और एक टीम राजारहाट में तैयार रहेगी. तीन टीमें  वाहिनी मुख्यालय में अलर्ट पर रखी गई हैं.


टिप्पणियां

ओडिशा में स्थिति से  निपटने के लिए एक टीम बालासोर में तैनात है और एक- एक टीम जाजपुर,केंद्रपाड़ा, भद्रक, पुरी और जगतसिंहपुर में तैनात की जा रही है. 11 टीमें  वाहिनी मुख्यालय में अलर्ट पर रखी गई हैं. दो टीमें अंडमान निकोबार और पोर्टब्लेयर में तैयार रखी गई हैं.

सभी टीमों के पास वायरलेस एवं सैटेलाइट संचार उपकरण उपलब्ध हैं. सभी टीमों के पास लैंड फॉल के बाद की स्थिति से निपटने के लिए ट्री कटर / पोल कटर जैसे उपकरण उपलब्ध हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement