नौकरशाही में बड़ा फेरबदल, वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग का हुआ तबादला, डीआईपीएएम सचिव को भी मिली नई जिम्मेदारी

इस फेरबदल को गर्ग के लिए निर्वासन के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि वित्त सचिव का पद नौकरशाही में बेहद प्रतिष्ठित माना जाता है

नौकरशाही में बड़ा फेरबदल, वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग का हुआ तबादला, डीआईपीएएम सचिव को भी मिली नई जिम्मेदारी

सुभाष चंद्र गर्ग का तबादला

खास बातें

  • वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग का हुआ तबादला
  • डीआईपीएएम सचिव को भी मिली नई जिम्मेदारी
  • फेरबदल को गर्ग के लिए निर्वासन के तौर पर देखा जा रहा है
नई दिल्ली:

नौकरशाही में बड़ा फेरबदल करते हुए सरकार ने मौजूदा वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग (Subhash Chandra Garg) का तबादला ऊर्जा मंत्रालय में कर दिया है. वहीं, निवेश एवं सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (डीआईपीएएम) के वर्तमान सचिव अतानु चक्रवर्ती (Atanu Chakraborty) आर्थिक मामलों के विभाग के नए सचिव होंगे. नौकरशाही में किया गया फेरबदल तत्काल प्रभाव से लागू होगा. गर्ग आर्थिक मामलों के विभाग के भी सचिव थे. आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, वह अब अजय कुमार भल्ला की जगह ऊर्जा सचिव के तौर पर कार्यभार संभालेंगे. भल्ला को गृह मंत्रालय में ओएसडी (ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी) नियुक्त किया गया है. 

BJP नेताओं की गुंडागर्दी: टोल टैक्स मांगने पर कर्मचारी को जमकर पीटा, CCTV में कैद पूरा मंजर

इस फेरबदल को गर्ग के लिए निर्वासन के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि वित्त सचिव का पद नौकरशाही में बेहद प्रतिष्ठित माना जाता है और आमतौर पर यह पद मंत्रालय में सबसे वरिष्ठ अधिकारी को दिया जाता है. हालांकि यह कोई आश्चर्यजनक कदम नहीं है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) सरकार ने कोई पहली बार ऐसे फेरबदल नहीं किए हैं. 

पहली बार 2014 में मोदी के सत्ता में आने पर सरकार ने तत्कालीन वित्त सचिव अरविंद मायाराम का तबादला पर्यटन विभाग में कर दिया था. गर्ग के वित्त मंत्रालय से तबादले के बाद सरकार अब वर्तमान राजस्व सचिव अजय भूषण पांडेय और वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार में से किसी एक का चयन वित्त सचिव पद के लिए कर सकती है. 

रोचक तथ्य यह है कि दोनों वरिष्ठतम अधिकारी हैं जो 21 अगस्त 1984 में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में शामिल हुए थे. हालांकि कुमार उम्र में पांडेय से वरिष्ठ हैं. बुधवार की शाम जारी आदेश के अनुसार, डीआईपीएम के अगले सचिव अनिल कुमार खाची होंगे. वह 1986 बैच के हिमाचल प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. 

बिहार में बाढ़ से 123 लोगों की मौत, 81 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

उधर, दूरसंचार विभाग (डीओटी) के अतिरिक्त सचिव अंशु प्रकाश को विभाग का सचिव बनाया गया है. वह डीओटी की मौजूदा सचिव अरुणा सुंदरराजन की सेवानिवृत्ति के बाद 31 जुलाई को पदभार ग्रहण करेंगे. नियुक्ति मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण के वर्तमान चेयरमैन गुरुप्रसाद महापात्रा की नियुक्ति वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय में उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) के सचिव के रूप में करने को मंजूरी प्रदान की है. 

अधिसूचना के अनुसार, आर. एस. शुक्ला को संसदीय कार्य मंत्रालय में सचिव नियुक्त किया गया है. अनुराधा मित्रा को गृह मंत्रालय में सचिव (राजभाषा विभाग) जबकि रवि कपूर को कपड़ा मंत्रालय में सचिव नियुक्त किया गया है. (इनपुट: आईएएनएस)
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com