NDTV Khabar

लालू यादव के परिवार की मुश्किलें बढ़ीं, केस दर्ज, पूरे मामले को 12 प्वाइंट्स में जानें

आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. ईडी ने रेलवे होटल आवंटन भ्रष्टाचार मामले में लालू और उनके परिवार के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू यादव के परिवार की मुश्किलें बढ़ीं, केस दर्ज, पूरे मामले को 12 प्वाइंट्स में जानें

लालू प्रसाद यादव के परिवार की मुश्किलें बढ़ीं

खास बातें

  1. ईडी ने किया है केस दर्ज
  2. एफआईआर में राबड़ी देवी और तेजस्वी का नाम शामिल
  3. लालू लगातार कर रहे हैं नीतीश पर हमले
नई दिल्ली:

आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. ईडी ने रेलवे होटल आवंटन भ्रष्टाचार मामले में लालू और उनके परिवार के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है. इस एफआईआर में लालू के बेटे तेजस्वी यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी का भी नाम शामिल है. लालू यादव पर आरोप है कि रेलमंत्री रहने के दौरान उन्होंने रेलवे के होटलों को औने-पौने दामों में चलाने का ठेका दिया था. इस मामले में सीबीआई ने भी केस दर्ज करके 7 जुलाई को दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुरुग्राम समेत 12 जगहों पर छापेमारी की थी. वहीं लालू यादव की बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश को ईडी ने निर्देश दिया है. ईडी ने मीसा और शैलेश को अपने घर और फॉर्म हाउस के कागजात सौंपने को कहा है. 

पढ़ें: नीतीश कुमार धोखेबाज, सांप्रदायिकता का ढोंग किया, भस्मासुर निकले-लालू यादव


बीएनआर टेंडर घोटाला साल 2006 में रेलवे के होटल आवंटन की गड़बड़ी से जुड़ा हुआ है और उस समय लालू यादव रेल मंत्री थे. इस मामले में सीबीआई का कहना था कि साल 2006 में रेल मंत्री रहते लालू यादव ने रांची और पुरी के बीएनआर होटलों के रखरखाव के लिए प्राइवेट कंपनियों को टेंडर दिया था. यह टेंडर निजी सुजाता होटेल्स को दी गई थीं. बीएनआर होटल रेलवे के हैरिटेज होटल हैं, जिन्हें साल 2006 में आईआरसीटीसी ने अपने नियंत्रण में ले लिया था. इस मामले में सीबीआई ने भी केस दर्ज करके 7 जुलाई को दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुरुग्राम सहित 12 स्थानों पर छापेमारी की थी.

RJD में भी बगावत: MLA ने लालू और तेजस्वी को गठबंधन टूटने के लिए जिम्‍मेदार ठहराया​


टिप्पणियां

टेंडर का खेल

  1. रांची, पुरी के BNR होटल IRCTC को ट्रांसफ़र
  2. रख-रखाव, प्रबंधन का ज़िम्मा सुजाता होटल को
  3. सुजाता होटल को टेंडर के लिए हेरफेर
  4. विजय कोचर, विनय कोचर का सुजाता होटल 
  5. रेलमंत्री लालू की जानकारी में पूरी प्रक्रिया 
  6. कोचर भाइयों ने 3 एकड़ ज़मीन डिलाइट मार्केटिंग को दी
  7. प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की डिलाइट मार्केटिंग 
  8. प्रेमचंद गुप्ता लालू के क़रीबी, आरजेडी सांसद
  9. बाद में डिलाइट के शेयर राबड़ी, तेजस्वी के नाम
  10. ज़मीन भी लालू परिवार के नाम ट्रांसफ़र
  11. कंपनी का नाम लारा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड
  12. लालू परिवार के दूसरे सदस्यों के नाम जोड़े गए

उल्लेखनीय है कि नीतीश कुमार के शपथ लेने के बाद लालू प्रसाद ने कहा कि बिहार राजनीतिक रूप से बहुत जागरूक स्टेट है. मोतीहारी से महात्मा गांधी ने सारे देश को संदेश दिया था. आज अफसोस है कि हमारे बीच कोई महात्मा गांधी नहीं हैं. आरएसएस से संबंध रखने वाले नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. नीतीश के बीजेपी के साथ जाने के फैसले से बिहार की जनता नाराज है. बिहार की जनता ने तो बीजेपी को खाली हाथ भेजा था. पिछड़ों, मुसलमानों और गरीबों ने हमारा साथ दिया था. जिधर सत्ता दिखती है नीतीश वहीं चले जाते हैं. वह बड़े अवसरवादी नेता हैं.  हमें बीजेपी और आरएसएस के खिलाफ बड़ा जनादेश मिला था. विधानसभा में नीतीश ने भी कहा था कि मिट्टी में मिल जाएंगे, लेकिन बीजेपी से हाथ नहीं मिलाएंगे. मेरे मन में खोट या लालच होता तो मैं नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री नहीं बनाता.

लालू यादव ने नीतीश कुमार पर आरोप लगाया कि उन्होंने राज्य में शराबबंदी का ढोंग किया और बिहार में शराब की होम डिलीवरी करवाई. उन्होंने ही बीजेपी के साथ मिलकर तेजस्वी के खिलाफ सीबीआई केस दर्ज करवाया. जिधर सत्ता दिखती है, नीतीश वहीं चले जाते हैं. ये बीजेपी-आरएसएस का मैच फिक्स था.लालू यादव ने कहा कि मैंने शंकर की तरह बोला कि जाओ लेकिन नीतीश कुमार तो भस्मासुर निकले. बीजेपी और नीतीश के बीच मैच पहले से ही फिक्स था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement