NDTV Khabar

BJP को जिताने के लिए डीएम की वायरल हो रही चैट को डिप्टी कलेक्टर ने बताया फर्जी, दर्ज कराई FIR

मध्य प्रदेश में कलेक्टर अनुभा श्वीवास्तव के साथ बीजेपी को चुनाव जिताने की कथित चैट वायरल होने पर डिप्टी कलेक्टर पूजा तिवारी ने केस दर्ज कराया है. उन्होंने इसे फर्जी करार दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
BJP को जिताने के लिए डीएम की वायरल हो रही चैट को डिप्टी कलेक्टर ने बताया फर्जी, दर्ज कराई FIR

मध्य प्रदेश में कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर के बीच कथित चैट का स्क्रीनशॉट, जिस पर एफआईआर हुई है.

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान शहडोल कलेक्टर अनुभा श्रीवास्तव का एक कथित चैट इन दिनों खासा वायरल हो रहा है. इस चैट में अनुभा अपनी जूनियर अधिकारी पूजा तिवारी से बीजेपी को जीताने के लिए कुछ भी करने के लिए कह रही हैं साथ ही वह कह रही हैं कि 'अगर चुनाव बाद तुम्हें तुरंत एसडीएम का चार्ज संभालना है तो किसी भी तरह बीजेपी को जिताओ. उन्होंने चैट में पूजा तिवारी से कहा कि मुझे कांग्रेस क्लीन स्वीप चाहिए. मैं आरओ डेहरिया को फोन कर देती हूं. पूजा तुम्हें अगर एसडीएम का चार्ज लेना है तो जैतपुर में बीजेपी को विन कराओ.'

इस पर पूजा तिवारी ने अनुभा को जवाब में 'ओके मैम' लिखा. साथ ही पूजा ने कहा कि 'मैं मैनेज करती हूं बट कोई इंक्वायरी तो नहीं होगी.' इस पर अनुभा ने उन्हें भरोसा दिलाते हुए लिखा कि मैं हूं. मेहनत कर रही हो तो बीजेपी गवर्नमेंट बनते ही तुम्हें एसडीएम का चार्ज मिलेगा. बता दें कि अनुभा शहडोल की कलेक्टर हैं. गौरतलब है पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बीजेपी की तुलना में ज्यादा सीटें मिली थी. इसके बाद ही उसने सपा-बसपा जैसी पार्टियों के समर्थन से राज्य में अपनी सरकार बनाई.


DM ने जूनियर महिला अधिकारी से कहा: 'अगर SDM बनना है तो कैसे भी करके BJP को जिताओ', पढ़ें कथित वायरल Chat


 डिप्टी कलेक्टर पूजा तिवारी ने इस चैट को फर्जी बताते हुए कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवा दी है. मेरा और कलेक्टर मैडम के नाम से किसी ने गलत मैसेज व्हाट्सऐप में चलाया.  हमें जैसे ही पता चला फौरन उसकी एफआईआर मैंने कोतवाली थाने में करवा दी. ऐसा कुछ हुआ ही नहीं, वो फोन नंबर भी फर्ज़ी था. जो हमारा ग्रुप है डिप्टी कलेक्टर का उसमें भी ये मैसेज गया सीधे . उन्होंने मुझे कहा पूजा देखो ये क्या हो रहा है तो हम सबने चर्चा करके एफआईआर करवाई. मैडम ने भी सारे वरिष्ठ अधिकारियों को ये बताया. मेरी छवि ख़राब करने के लिये ये मैसेज चला रहे हैं.मामले में ज़िले के एसपी कुमार सौरभ ने बताया डिप्टी कलेक्टर ने शिकायत कराई कि पिछले कुछ दिनों से उन्हें अंजान नंबर से अश्लील मैसेज आ रहे हैं किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनके फोन को हैक करके दुष्प्रचार किया गया, झूठे चैट को प्रचारित करके उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया.

टिप्पणियां

वीडियो- व्हाट्सऐप चैट को सबकी नज़र से ऐसे छिपाएं 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement