दिल्ली : फिर हो सकता था अनाजमंडी जैसा अग्निकांड, स्थानीय लोगों की समझदारी ने बचाई कई जिंदगियां

बीते दिसंबर दिल्ली में एक दर्दनाक अनाजमंडी अग्निकांड हुआ था, जिसमें फैक्ट्री में काम करने वाले 43 श्रमिकों की जान चली गई थी.

दिल्ली : फिर हो सकता था अनाजमंडी जैसा अग्निकांड, स्थानीय लोगों की समझदारी ने बचाई कई जिंदगियां

दिल्ली में फिर दोहरा सकता था अनाजमंडी जैसा दर्दनाक हादसा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

बीते दिसंबर दिल्ली में एक दर्दनाक अनाजमंडी अग्निकांड हुआ था, जिसमें फैक्ट्री में काम करने वाले 43 श्रमिकों की जान चली गई थी. ऐसा ही एक और हादसा दिल्ली में एक बार फिर से दोहरा सकता था लेकिन स्थानीय लोगों की सूझ बूझ से कई जिंदगियां आग में झुलसने से बच गई. मायपुरी में भीषण हादसा होते-होते बचा, अगर दो भाई आसिफ और फैजान के साथ तमाम लोग न होते तो अनाजमंडी जैसा दर्दनाक हादसा फिर से हो जाता. शनिवार शाम करीब 5 बजे मायापुरी फेस 2 स्थित एक जूता बनाने की फैक्ट्री में आग लग गई. आग लगते ही आस-पास रहने वाले लोग आ गए, जिसमें दो भाई आसिफ और फैजान भी थे. 

दिल्ली की अनाज मंडी के बाद अब मानेसर की एक फैक्टरी में लगी आग, दमकल की 6 गाड़ियां मौके पर पहुंची

आसिफ और फैजान ने लोगों की मदद से लकड़ी और लोहे की सीढ़ियां बनाई, जिनकी मदद से लोगों को बाहर निकाला जा सके. आसिफ और फैजान की इसी फैक्ट्री के सामने कबाड़ की दुकान है. आग से सुरक्षित निकाले गए वीरेंद्र यादव ने बताया कि शाम को अचानक से आग लग गई, शॉर्ट सर्किट से लगी आग कुछ ही मिनटों में चारों तरफ फैल गई, फिर लोगों ने हमारी मदद की और किसी तरह हम बाहर निकल सके.  

आप सांसद संजय सिंह ने MCD पर लगाया आरोप, कहा- फैक्ट्री अवैध थी तो उसे बंद क्यों नहीं किया गया?

जानकारी के मुताबिक आग लगने के कारण एक महिला और एक पुरुष घायल हो गए हैं, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. करीब 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया. 

Video: दिल्ली अग्निकांड में राजेश शुक्ला ने 11 लोगों की जान बचाई

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com