साल 2019 में हुए 5 बड़े क्राइम, जिसके बारे में सुनकर कांप गई लोगों की रूह

दुनिया साल 2019 को अलविदा कहने जा रही है और हर साल की तरह यह साल भी अपने पीछे कुछ यादें छोड़कर जा रही है, लेकिन इस साल की ऐसी कई वारदातें हुईं जिन्होंने पूरे देश को दहला दिया.

साल 2019 में हुए 5 बड़े क्राइम, जिसके बारे में सुनकर कांप गई लोगों की रूह

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • दुनिया साल 2019 को कहने जा रही है अलविदा
  • ऐसी कई वारदातें हुईं जिन्होंने पूरे देश को दहला दिया
  • साल 2019 में हुए ये 5 बड़े क्राइम
नई दिल्ली:

दुनिया साल 2019 को अलविदा कहने जा रही है और हर साल की तरह यह साल भी अपने पीछे कुछ यादें छोड़कर जा रही है, लेकिन इस साल की ऐसी कई वारदातें हुईं जिन्होंने पूरे देश को दहला दिया. दरअसल, इस साल दिल दहला देने वाले आपराधिक मामले की वजह से लोगों के आंखों में आंसू ला दिए. इतना ही नहीं, क्राइम की ऐसी घटनाएं भी हुई, जिससे लोगों की रूह तक भी कांप गई. आइए जानते हैं वो कौन-कौन सी घटनाएं हैं...

PM मोदी ने की अटल भूजल योजना की शुरुआत, कहा- पानी का विषय अटल जी के लिए बहुत महत्वपूर्ण था...

अलीगढ़ में मासूम की हत्या-

अलीगढ़ में इसी साल जून महीने के शुरुआत में ढाई साल की बच्ची की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. महज दस हजार रुपये के लिए एक नन्हीं बच्ची का गला घोंट कर हत्या कर उसके शव को कूड़े के ढेर पर फेंक दिया था. 30 मई को गायब हुई बच्ची का शव बाद में घर के पास के कूड़ाघर में 2 जून को सड़ी गली हालत में मिला. लापरवाही बरतने के आरोप में इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था. मामले में मुख्य आरोपी समेत 4 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया था.

तेलंगाना में महिला तहसीलदार को जिंदा जलाया-

तेलंगाना में 4 नवंबर को एक जघन्य घटना के तहत अब्दुल्लापुरमेट में एक महिला तहसीलदार को संदिग्ध भूमि विवाद के चलते उनके कार्यालय में दिनदहाड़े कथित रूप से एक व्यक्ति ने जिंदा जला दिया था. राजस्व विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार विजया रेड्डी (30) की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उन्हें बचाने की कोशिश में कार्यालय के दो अन्य कर्मचारी झुलस गए. इसमें हमलावर भी जल गया था. घटना दोपहर करीब ढेड़ बजे हुई, जब विजया अपने कमरे में अकेली थीं. सुरेश नाम के एक स्थानीय व्यक्ति ने कथित रूप से वहां प्रवेश किया और उनके ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी.

फफक-फफक कर रो पड़ा CAA के खिलाफ प्रदर्शन में मारे गए युवक का पिता, कहा- पुलिस ने मारी गोली, जिंदगी बर्बाद हो गई

हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर मामला-

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में 27 नवंबर को इन चार आरोपियों की जिनकी उम्र 20 से 26 साल के बीच थी. महिला डॉक्टर को टोल बूथ पर स्कूटी पार्क करते देखा था. आरोप है कि इन लोगों ने जानबूझकर उसकी स्कूटी पंक्चर की थी. इसके बाद मदद करने के बहाने उसका एक सूनसान जगह पर लेकर गैंगरेप किया और बाद में पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया. पुलिस के मुताबिक घटना से पहले इन लोगों ने शराब भी पी रखी थी. रेप और मर्डर की इस घटना के बाद पूरे देश में गुस्सा था और इस मामले की सुनवाई के लिए फॉस्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया गया था. पुलिस इस वारदात के चार आरोपियों को थाने लाई तो लोगों की गुस्साई भीड़ वहां पहुंची और आरोपियों को सौंपने की मांग की. बेकाबू हो रही भीड़ को वहां से हटाने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज तक करना पड़ा. करीब 9 दिन बाद 6 दिसंबर को तड़के सुबह खबर आई कि सभी आरोपी भागने की कोशिश कर रहे थे और इस दौरान पुलिस की ओर से हुई फायरिंग में सभी आरोपी मारे गए.

कन्हैया कुमार ने ट्वीट कर कसा तंज, NRC और NPR में उतना ही फर्क है जितना गंगाधर और शक्तिमान में...

उन्नाव रेप पीड़िता को जिंदा जलाया-

यूपी के उन्नाव जिले के माखी थानाक्षेत्र की रहने वाली युवती ने जून 2017 में भाजपा से निष्काषित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बंधक बनाकर कई बार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था. इस मामले में कोर्ट विवाद तभी से ही अटका पड़ा था, लेकिन यह मामला तेज तब हुआ जब इस साल 28 जुलाई को रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाना क्षेत्र में कार व ट्रक की टक्कर में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी. पीड़िता और कार चला रहे उनके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे. पीड़ित परिवार का आरोप है कि कुलदीप सेंगर ने ही यह एक्सीडेंट करवाया था. इस मामले में भी सेंगर व अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया. 20 दिसंबर को उन्नाव रेप मामले में दोषी पाए गए बीजेपी से निष्कासित किए जा चुके विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई. सेंगर पर 25 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया. सजा सुनते ही सेंगर कोर्ट में फूट-फूटकर रोने लगा.

बिहार के बक्सर में हैवानियत-

बिहार के बक्सर जिले में एक युवती से कथित तौर पर रेप के बाद गोली मारने और उसे जलाने का दिल दहला देने वाला संदिग्ध मामला सामने आया था. हालांकि बाद में बलात्कार के बाद हत्या का यह मामला असल में ऑनर किलिंग का मामला निकला. मृतका की पहचान रोहतास जिले के दिनारा थाना अंतर्गत दिनारा बाजार के महेंद्र प्रसाद की पुत्री के रूप में की गयी. इस हत्याकांड में कुल छह लोग संलिप्त थे. महेंद्र के भांजे ने ही मौत की जगह को तय किया और मृतका के पिता और भाई मोटरसाइकिल पर युवती को दिनारा से लेकर बक्सर के कुकुढ़ा गांव पहुंचे जहां पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार भांजे सहित तीन अन्य व्यक्ति मौजूद थे जिन्होंने युवती को गोली मारी और शव को पेट्रोल डालकर आग लगा दी. सूत्रों के अनुसार युवती की शादी पांच मार्च 2018 को की गई थी जहां से वह रिसेप्शन के दिन फरार हो गयी थी. ग्रामीणों के अनुसार युवती के पिता को उसके फरार होने को लेकर गांव के लोग ताना मारा करते थे जिससे तंग आकर उन्होंने इस वारदात को अंजाम दिया. 

Video: मीडिया के सामने भड़क उठे भगवंत मान, सवाल पूछने पर उठे और बढ़ने लगे पत्रकार की तरफ और तभी...

Newsbeep

एक ही परिवार के 5 लोगों ने खुदकुशी-

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इंदिरापुरम के वैभव खंड के कृष्णा सोसायटी में 3 दिसंबर पांच लोगों की मौत से अफरातफरी मच गई. दिल्ली के गांधी नगर में जींस का कारोबार करने वाले गुलशन बिजनेस में घाटा होने से काफी परेशान चल रहे थे. 2 दिसंबर की रात पहले उन्होंने अपने दो बच्चों का कत्ल किया फिर अपनी पत्नी प्रवीण और बिजनेस पार्टनर संजना के साथ आठवीं मंजिल से छलांग लगा दी, जिसमें तीनों की मौत हो गई. गुलशन ने 3 दिसंबर की सुबह करीब पांच बजे आत्महत्या करने से पहले राकेश को वीडियो कॉलिंग करके पैसा न चुका पाने के लिए माफी मांगी फिर दीवार पर लिखा कि पांचों की लाश को एक साथ जलाना और आत्महत्या का जिम्मेदार राकेश वर्मा है. राकेश वर्मा गुलशन का रिश्तेदार है. पांच साल पहले राकेश वर्मा ने गुलशन के दो करोड़ रुपए एक प्रॉपर्टी में लगवाए थे. लेकिन प्रॉपर्टी का रेट कम होने से गुलशन को घाटा हो गया. जब गुलशन ने राकेश पर दो करोड़ वापस लेने के लिए केस भी किया था. जिसमें राकेश कुछ दिन पहले जेल भी गए थे. अब इस घटना के बाद राकेश फरार हो गया. दो करोड़ की चपत लगने के बाद गुलशन को जींस के कारोबार में भी खासा घाटा लगा. जिससे उसकी आर्थिक स्थिति खस्ताहाल हो गई थी.